ढाई साल में बनेगा भव्य राम मंदिर!

Ram Mandir
लखनऊ
सुप्रीम कोर्ट द्वारा शनिवार को राम मंदिर निर्माण का फैसला दिए जाने के बाद सबके जेहन में पहला सवाल यह है कि मंदिर निर्माण कितने समय में पूरा हो जाएगा? विश्व हिंदू परिषद (विहिप) ने 30 साल पहले गुजरात के आर्किटेक्ट चंद्रकांत भाई सोमपुरा से राम मंदिर का मॉडल बनवाया था। चंद्रकांत ने खास बातचीत में बताया कि मंदिर निर्माण के लिए  50% काम पूरा हो गया है। अगर 2000 कारीगर रोजाना 10-10 घंटे काम करेंगे तो इसे ढाई साल में पूरा कर लिया जाएगा। चंद्रकांत के दादा ने गुजरात में सोमनाथ मंदिर का  निर्माण किया था। सोमपुरा परिवार पीढ़ियों से मंदिर निर्माण के काम में ही लगा हुआ है।

राम मंदिर का डिजाइन 6 बार तैयार किया गया था
चंद्रकांत ने बताया कि हमारा काम देखने के बाद ही 30 साल पहले विहिप ने हमसे संपर्क किया था। हमसे मंदिर का मॉडल बनाने को कहा गया था। उसी वक्त मंदिर के मॉडल और  पत्थर तराशने का काम शुरू हुआ था। मंदिर का डिजाइन तैयार करने में 6 महीने लग गए। हमने 6 बार अलग-अलग डिजाइन तैयार की। इसके बाद इससे जुड़े लोगों की टीम को  नागर शैली से बना डिजाइन पसंद आया।

राममंदिर का गर्भगृह अष्टकोणीय होगा
उन्होंने कहा कि भारत में मंदिर तीन शैलियों में ही बनते हैं। नागर, द्रविड़ और बैसर शैली। राम मंदिर नागर शैली में बनाया जाएगा। यह उत्तर भारत में प्रचलित है। इस शैली के  मंदिरों की विशेषता है कि यह आधार से शिखर तक चतुष्कोणीय होते हैं। राममंदिर का डिजाइन खास है। इसकी परिक्रमा वृत्ताकार होगी, जबकि गर्भगृह अष्टकोणीय होगा। दो  मंजिला मंदिर में भूतल पर मंदिर और ऊपरी मंजिल पर रामदरबार होगा। इसके खंबों पर देवी- देवताओं की आकृतियां उकेरी जाएंगी। गुंबद का काम अभी पूरा नहीं हुआ है, इसमें वक्त लगेगा।

राम मंदिर में लोहा नहीं इस्तेमाल किया जाएगा
चंद्रकांत ने बताया कि 50% काम पूरा हो गया है। सामान्य स्थितियों में अगर मंदिर का निर्माण किया जाए, तो इसमें ढाई से तीन साल का समय लग सकता है। राम मंदिर में  लोहा नहीं इस्तेमाल किया जाएगा। निर्माण में करीब 100 करोड़ रुपए का खर्च आएगा। मंदिर की चौड़ाई 150 फीट, लंबाई 270 फीट और गुंबद तक की ऊंचाई 270 फीट होगी।  उन्होंने कहा कि हमने लंदन (ब्रिटेन) में स्वामी नारायण मंदिर को केवल 2 साल के भीतर बना दिया था।

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget