बचपन के कोच से अलग होने का फैसला सही था : बत्रा

Manika Batra
नई दिल्ली
भारत की स्टार महिला टेबल टेनिस खिलाड़ी मणिका बत्रा ने बचपन के कोच संदीप गुप्ता से अलग होने के फैसले को सही ठहराते हुए कहा कि पुणे को अभ्यास केंद्र बनाने से उन्हें काफी फायदा मिला। बत्रा को बखूबी पता है कि द्रोणाचार्य अवॉर्डी गुप्ता से अलग होने के उनके फैसले को लेकर लोग काफी बातें करेंगे, लेकिन उसका मानना है कि उसके खेल को  सुधारने के लिए यह जरूरी फैसला था। दो दशक से गुप्ता के मार्गदर्शन में खेल रही बत्रा के रिश्ते उनसे इतने खराब हो गए कि अब आपस में बातचीत भी नहीं है। अब वह सन्मय  परांजपे के साथ अभ्यास करती हैं। वह पिछले महीने आईटीटीएफ रैंकिंग में 18 पायदान चढ़कर 61वें स्थान पर पहुंच गईं। मणिका ने कहा कि अब मैं अपने खेल को लेकर   आत्मविश्वास से ओत-प्रोत हूं। मुझे फर्क महसूस हो रहा है। पुणे में माहौल काफी पॉजिटिव है और मेरे अभ्यास के साझेदार भी मेरे साथ काफी मेहनत कर रहे हैं। कॉमनवेल्थ गेम्स
की गोल्ड मेडलिस्ट और एशियाई खेलों की ब्रांज मेडलिस्ट बत्रा को जल्दी टॉप-50 में आने की उम्मीद है। उन्होंने कहा कि मुझे शारीरिक रूप से और मजबूत होना होगा, ताकि टेबल   के आस-पास मूवमेंट बेहतर हो सके। टेबल टेनिस में रिफ्लैक्स महत्वपूर्ण होते हैं।
Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget