'पीएमसी बैंक के 78 फीसदी खाताधारकों को मिली राहत'

नई दिल्ली
 वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने सोमवार को कहा कि अब तक के प्रयासों से पंजाब एंड महाराष्ट्र कोऑपरेटिव (पीएमसी) बैंक के बड़ी संख्या में खाताधारकों को राहत मिल गई है।  लोकसभा में बोलते हुए वित्त मंत्री ने कहा कि पीएमसी बैंक के 78 फीसदी खाताधारक अपने खाते से पूरा पैसा निकालने लायक हैं। वित्तीय अनियमितताएं सामने आने के बाद भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने 23 सितंबर को पीएमसी बैंक पर कई प्रतिबंध लगा दिए था। इन प्रतिबंधों के तहत बैंक के जमाकर्ताओं को पूरे छह महीने में सिर्फ एक हजार  रुपए निकालने की अनुमति दी गई थी। बाद में इस सीमा को बढ़ाकर पहले 10,000 रुपए और फिर से बढ़ाकर 25,000 रुपए किया गया था। इसके बाद इस सीमा को बढ़ाकर 40   हजार रुपए किया गया। 5 नवंबर को आरबीआई ने इस सीमा को बढ़ाकर 50 हजार रुपए कर दिया गया था। यानी पीएमसी बैंक के 78 फीसदी खाताधारकों में जमा राशि 50 हजार  रुपए तक थी। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि सरकार पीएमसी बैंक के खाताधारकों का पैसा लौटाने के लिए हरसंभव प्रयास कर रही है। उन्होंने कहा कि हम यह  सुनिश्चित करेंगे कि पीएमसी बैंक के प्रमोटर्स की जब्त संपत्ति आरबीआई को सौंपी जाएगी, ताकि इसकी नीलामी हो सके। इस नीलामी से मिलने वाली राशि से खाताधारकों का पैसा  लौटाया जाएगा। आपको बता दें कि पीएमसी बैंक और इंफ्रास्ट्रक्चर फर्म एचडीआईएल के प्रमोटर्स की जब्त संपत्ति को नीलाम करने के लिए आरबीआई लगातार ईडी और ईओडŽल्यू  के साथ संपर्क में है। पीएमसी बैंक में घोटाला सामने आने के बाद ईडी और मुंबई पुलिस की आर्थिक अपराध शाखा (ईओडŽल्यू) ने बैंक और एचडीआईएल के प्रमोटर्स के खिलाफ  अलग-अलग मामले दर्ज किए हैं। रिपोर्ट के अनुसार, ईडी और ईओडŽल्यू एचडीआईएल के प्रमोटर्स की करीब 4 हजार करोड़ रुपए की संपत्ति जब्त कर चुके हैं। अब इसी संपत्ति की  नीलामी कर खाताधारकों का पैसा जुटाने की बात कही जा रही है।
Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget