आरएन सिंह के प्रस्ताव पर गृहमंत्री शिंदे ने की एसआईटी जांच की घोषणा

R N Singh
नागपुर
वडाला टर्मिनस पुलिस स्टेशन की कस्टडी में 26 वर्षीय युवक विजय सिंह की हुई मौत के मामले की एसआईटी से जांच होगी। विधान परिषद में गृह मंत्री एकनाथ शिंदे ने भाजपा  विधायक आरएन सिंह के ध्यानाकर्षण प्रस्ताव पर हुई चर्चा का जवाब देते हुए यह बात कही। उन्होंने सदन को भरोसा दिलाया कि संपूर्ण मामले की विस्तृत जांच कराई जाएगी और  दोषियों को छोड़ा नहीं जाएगा।
ध्यानाकर्षण प्रस्ताव पर चर्चा की शुरुआत करते हुए भाजपा सदस्य भाई गिरकर ने इसी साल अक्टूबर में पुलिस हिरासत में विजय हृदयनारायण सिंह की मौत का मामला उठाया।  चर्चा में भाग लेते हुए भाई गिरकर और प्रसाद लाड ने कहा कि एक नौजवान युवक की पुलिस हिरासत में मौत का मामला गंभीर है। युवक को बुरी तरह पीटा गया और उसे पीने के  लिए पानी भी नहीं दिया गया। जब युवक ने सीने में दर्द की शिकायत की तो उसे पुलिस का वाहन तक उपलब्ध नहीं कराया गया। यदि युवक को समय पर वाहन उपलब्ध हो जाता  तो आज वह जीवित होता। उन्होंने सवाल किया कि पहली पोस्टमार्टम रिपोर्ट में मौत की वजह हार्ट अटैक बताई गई है, लेकिन 26 साल के युवक को अटैक कैसे आया?
नेता प्रतिपक्ष प्रवीण दरेकर ने चर्चा में भाग लेते हुए सवाल किया कि घटना को हुए इतना लंबा वक्त बीत चुका है, लेकिन अभी तक जांच रिपोर्ट नहीं आई है? इस पर गृहमंत्री  एकनाथ शिंदे ने कहा कि जांच रिपोर्ट आने पर दोषियों के खिलाफ कठोर कार्रवाई की जाएगी और किसी को भी बक्शा नहीं जाएगा। शिंदे ने कहा कि इस मामले में एक पुलिस  उपनिरीक्षक, एक सहायक पुलिस निरीक्षक, एक हेड कांस्टेबल, एक पुलिस नाईक और एक पुलिस कांस्टेबल को पिछले 29 अक्टूबर 2019 को निलंबित कर दिया है। उन्होंने कहा कि  विजय सिंह का पहली बार जेजे अस्पताल में पोस्टमार्टम हुआ। इस रिपोर्ट में मौत का कारण हार्टअटैक बताया गया। इसके बाद विजय सिंह के परिजनों की उपस्थिति में 6 डॉक्टरों  की टीम ने केईएम अस्पताल में फिर से पोस्टमार्टम किया, इसकी रिपोर्ट अभी आनी बाकी है। इस रिपोर्ट से मौत के कारण का खुलासा होगा। गृहमंत्री शिंदे ने अतिरिक्त पुलिस  आयुक्त की निगरानी में जांच कराने की बात कही, जिस पर हंगामा होने लगा। भाजपा के सदस्यों ने एसआईटी जांच की मांग की। इस पर शिंदे ने एसआईटी जांच कराने की घोषणा  की। चर्चा में डॉ. रणजीत पाटिल, विद्या चव्हाण ने भी भाग लिया।

दोषियों को नहीं छोड़ेंगे : आरएन सिंह
इधर सदन के बाहर भाजपा विधायक आरएन सिंह, भाई गिरकर, प्रसाद लाड ने पत्रकारों को बताया कि वे इस मामले को छोड़ेंगे नहीं। दोषी पुलिसकर्मियों को सजा दिलाकर की रहेंगे।  सिंह ने कहा कि जिस परिस्थिति में युवक विजय सिंह की मौत हुई है, उससे पुलिस की असंवदेनशीलता प्रकट होती है। उस माता- पिता के बारे में सोचिए, जिनका बेटा पुलिस की  लापरवाही की वजह से उनके जुदा हो गया। इस मामले में दोषी पुलिसकर्मियों को सजा मिलनी ही चाहिए।

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget