पुलिस थानों में अब नहीं दिखेंगी अंग्रेजो के जमाने की थ्री नॉट थ्री

लखनऊ
अंग्रेजों के जमाने से इस्तेमाल की जा रही प्वॉइंट थ्री नॉट थ्री रायफल पुलिस विभाग से बाहर हो गई है। इस रायफल के इस्तेमाल पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। राजधानी में पुलिस लाइंस के शस्त्रागार में  थानों से यह रायफल जमा होने लगी है। वर्ष 2016 में कैग की ओर से किए गए सर्वे में यह जानकारी हुई थी कि प्रदेश में कुल एक लाख 22 हजार असलहे पुलिस के पास हैं। इनमें थ्री नॉट थ्री बोर के 58  हजार 853 असलहे शामिल हैं। खास बात यह है कि फरवरी 1995 में इस असलहे को अप्रचलित घोषित कर दिया गया था। बावजूद इसके पुलिसकर्मी इसका इस्तेमाल कर रहे थे। सर्वे में सामने आया था  कि यूपी के 48 फीसद पुलिसकर्मी अभी भी इसे लेकर चलते हैं। कैग ने कुल 15 जिलों में सर्वे किया था, जिनमें राजधानी भी शामिल है। कैग ने कुशीनगर, देवरिया, प्रयागराज, प्रतापगढ़, सीतापुर, गाजियाबाद, मुरादाबाद,मथुरा, झांसी, कानपुर नगर, मेरठ, शाहजहांपुर, आगरा और सोनभद्र जिले में निरीक्षण किया था। इन जिलों में सिर्फ मुरादाबाद में ही थ्री नॉट थ्री रायफल का इस्तेमाल होता नहीं पाया  गया। बताया गया कि इस रायफल का इस्तेमाल सबसे पहले प्रथम विश्व युद्ध में किया गया था और तब से यह प्रचलन में थी। पुलिसकॢमयों को थ्री नॉट थ्री रायफल से मुतिमिल गई है। इसके बदले में उन्हें  अब इंसास दी जा रही है। थ्री नॉट थ्री की लंबाई ज्यादा होने की वजह से भी पुलिसकॢमयों को दिकत होती थी। इस रायफल की लंबाई 44।5 इंच है, जिसमें बैरल की लंबाई 25 इंच होती है।

Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget