आरएसएस - भाजपा की तिरंगा यात्रा

Tiranga Yatra
नागपुर
नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ देश के कई हिस्सों में जहां विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं, वहीं दूसरी ओर तमाम संगठन लगातार विधेयक के समर्थन में भी  प्रदर्शन कर रहे हैं।   नागरिकता कानून के समर्थन में दिल्ली में हुए प्रदर्शन के बाद रविवार को महाराष्ट्र में भी लोगों ने एक विशाल तिरंगा यात्रा निकालकर बिल का समर्थन किया। महाराष्ट्र के नागपुर  में रविवार को नागरिकता कानून के समर्थन में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ, भारतीय जनता पार्टी और लोक अधिकार मंच के कार्यकर्ताओं ने एक विशाल तिरंगा यात्रा निकाली। इस रैली  में हजारों लोगों ने सड़क पर उतरकर नागरिकता कानून का समर्थन किया और सरकार के फैसले का स्वागत भी किया। इससे पहले शनिवार को देशभर के 1100 शिक्षाविदों,  बुद्धिजीवियों और वैज्ञानिकों ने पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान से धर्म के आधार पर प्रताड़ित होकर आए गैर मुस्लिम शरणार्थियों को नागरिकता देने वाले कानून का  समर्थन किया है। इन्होंने नए कानून को जायज ठहराते हुए एक बयान जारी किया है। 1100 हस्ताक्षर के साथ बयान में भारतीय संसद और सरकार को बधाई दी गई है।

डीयू और  जेएनयू के प्रोफेसर्स ने किया समर्थन
उन्होंने इस बात पर भी संतुष्टि जाहिर की है कि उत्तर-पूर्व के लोगों की चिंताओं को सुना गया और उन्हें संबोधित किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि हम मानते हैं कि सीएए भारत   के सेक्युलर संविधान के अनुरूप ही है, क्योंकि यह किसी धर्म के किसी व्यक्ति को नागरिकता के लिए अपील से नहीं रोकता है। समर्थन करने वालों में दिल्ली यूनिवर्सिटी, जेएनयू,  इगनू, कई आईआईटी और दुनिया के कई बड़े संस्थानों में पढ़ाने वाले भारतीय भी शामिल हैं।

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget