अभी पूरा न्याय नहीं, हमें जान का खतरा : पीड़िता की मा

उन्नाव
उन्नाव रेप केस में दोषी करार दिए गए कुलदीप सिंह सेंगर की सजा पर सुनवाई टल गई है। अब इस मामले में 20 दिसंबर को सुनवाई होगी। उधर पीड़िता की मां ने सहअभियुक्त  शशि सिंह के बरी होने पर सवाल उठाया है। उन्होंने कहा कि फर्जी मामले में फंसाए  गए उनके देवर को रिहा न किए जाने तक उन्हें पूरा न्याय नहीं मिलेगा। इस दौरान मां ने यह  भी कहा कि उन्हें अभी भी जान का खतरा है। उन्होंने कुलदीप सिंह सेंगर के लिए फांसी की सजा की मांग की है। पीड़िता की मां ने कहा कि सहअभियुक्त को क्यों छोड़ा गया, जबकि वही उनकी बेटी को नौकरी का झांसा देकर सेंगर के पास ले गई थी। उन्होंने कहा कि विधायक सेंगर के इशारे पर ही उनके देवर महेश सिंह को फर्जी मुकदमे में फंसाकर जेल  भेजा गया है। पीड़िता की मां ने कहा कि जब तक वह बाइज्जत रिहा नहीं होते, तब तक उन्हें पूरा न्याय नहीं मिलेगा। पीड़िता की मां ने कहा कि हमें अब भी जान का खतरा है।  सेंगर अगर जेल के अंदर रहकर रायबरेली में मेरी बेटी और रिश्तेदारों की कार पर ट्रक से ट्क्कर करवा सकता है तो वह कुछ भी कर सकता है। इस दौरान उन्होंने सेंगर को
फांसी देने की भी मांग की। इस बीच, कुलदीप सेंगर के माखी गांव में अदालत के निर्णय पर खामोशी व्याप्त है। गांव और उन्नाव शहर में स्थित विधायक के आवास पर समर्थकों को  छोड़कर परिवार का कोई सदस्य नहीं मिला। पूछने पर बताया गया कि सभी लोग दिल्ली में हैं। समर्थक कुछ भी बोलने को तैयार नहीं हैं। बता दें कि वर्ष 2017 में एक नाबालिग  ड़की से बलात्कार के मामले में दिल्ली की एक अदालत ने बीजेपी से निष्कासित विधायक कुलदीप सिंह सेंगर को सोमवार को अपहरण और दुष्कर्म का दोषी ठहराया था। हालांकि दालत ने  मामले में एक अन्य आरोपी शशि सिंह को सभी आरोपों से बरी कर दिया। यूपी की बांगरमऊ विधानसभा सीट से विधायक सेंगर को इसी साल अगस्त में बीजेपी से ष्कासित कर दिया गया था। सेंगर पर आरोप लगाने वाली युवती की कार को 28 जुलाई में एक ट्रक ने  टक्कर मार दी थी। 
Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget