डिप्रेशन का शिकार था हत्यारा फौजी

पटना
 रविवार को पटना से सटे रानीतालाब के सैदाबाद गांव के पास एक आर्मी के जवान ने चलती कार में अपने लाइसेंसी पिस्तौल से पत्नी और साली को गोली मारने के बाद खुद को भी गोली मार कर  आत्महत्या ली। इस घटना में जवान विष्णु ठाकुर, पत्नी दामिनी और साली डिंपल उर्फ खुशबू तीन लोगों की मौत घटनास्थल पर ही हो गई, हालांकि किसी तरह ड्राइवर के सूझ बूझ के कारण दोनों बच्चे की  जान बच गई। बताया जाता है कि आर्मी जवान डेंगू से पीड़ित था और लगभग एक माह से इलाज करा रहा था। मृतक भोजपुर के गड़हनी थाना के लालगंज गांव रहने वाला था और वो अपने ससुराल  जपुर  के तरारी गांव से पटना डेंगू के इलाज के लिए जा रहा था। 
मृतक आर्मी जवान गुजरात के भुज में पोस्टेड था और पिछले 22 नवंबर को साली के शादी में छुट्टी पर आया था। उसकी साली की शादी 23 को  थी। घरवालों के अनुसार डेंगू से पीड़ित होने के बाद से वो काफी चिड़चिड़ा हो गए थे और बहुत जल्द गुस्सा करने लगता था। एकाएक हुए इस हादसे ने सभी को झकझोर के रख दिया है। इस दौरान गाड़ी  चला रहे ड्राइवर मिथलेश ठाकुर जो रिश्ते में लड़की के चाचा लगते हैं ने बताया कि गाड़ी में कोई बकझक नहीं हुआ था। सब कुछ सामान्य था। साली-पत्नी और वो खुद तीन लोग पीछे बैठे हुए थे, जबकि  दोनों बच्चा आगे की सीट पर बैठे हुए थे। सैदाबाद के पास एक गोली चली तब गाड़ी के ड्राइवर ने गाड़ी रोक दी और छुड़ाने का प्रयास करने लगे जहां उस सनकी ने उसे भी गोली मारने की धमकी दी।  इसके बाद वो दोनों बच्चो को लेकर बाहर निकल गया। उसके अनुसार उस समय चार गोली चली थी। गोली की आवाज सुनकर आसपास खेतों में काम कर रहे लोग जुट गए और बीच बचाव करना चाहा,  लेकिन तीनों की मौत हो चुकी थी।घटना के बाद थाना को सूचना दी गई और फिर पुलिस ने गाड़ी को थाने ले जाकर मामले की जांच की। इस संबंध में पालीगंज डीएसपी मनोज पांडेय ने बताया कि अभी  तक के जांच में आर्मी जवान ने ही सभी को गोली मारी है और अंत में खुद को भी गोली मारी है। वो पिछले कुछ दिनों से डेंगू से पीड़ित था और इलाज के लिए ही पटना जा रहा था।

Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget