घुसपैठियों से मुक्त करेंगे भारत

Amit Shah
नई दिल्ली
केंद्रीय गृहमंत्री और भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने घुसपैठियों को बाहर का रास्ता दिखाने के लिए सोमवार को डेडलाइन दी। अमित शाह ने झारखंड में आयोजित एक रैली  को संबोधित करते हुए कहा कि साल 2024 के पहले देश के एक-एक घुसपैठियों को चुन-चुन कर निकालने का काम भाजपा सरकार करने वाली है। अमित शाह ने राहुल गांधी को  लेकर कहा कि वे कहते हैं कि एनआरसी क्यों ला रहे हो? घुसपैठियों को क्यों निकाल रहे हो? कहां जाएंगे, क्या कहेंगे? अमित शाह ने झारखंड के लोगों से अपने मताधिकार का  इस्तेमाल उनकी पार्टी के पक्ष में करने की अपील करते हुए कहा कि उनका मत तय करेगा कि राज्य विकास के पथ पर बढ़ेगा या नक्सलवाद की राह पर। उन्होंने यहां एक चुनावी  सभा को संबोधित करते हुए कहा कि झारखंड के लिए राष्ट्रीय और स्थानीय मुद्दे समान महत्व के हैं, क्योंकि राज्य के लोग चाहते हैं कि नक्सलवाद की तरह ही आतंकवाद का भी  खात्मा हो। उन्होंने दावा किया कि सीमा पर सुरक्षा में तैनात अधिकांश जवान झारखंड से हैं। इस राज्य के लोग चाहते हैं कि आतंकवाद और नक्सलवाद को खत्म किया जाए। मोदी  जी (प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी) ने हवाई हमले और सर्जिकल स्ट्राइक के जरिए आतंकवादियों को उपयुक्त जवाब दिया है। विपक्षी धड़े पर निशाना साधते हुए केंद्रीय गृह मंत्री शाह ने कहा  कि आदिवासियों के अधिकारों का दोहन करने वाले, करोड़ों रुपए की घूसखोरी में शामिल और चुनावी टिकटों की खरीद-बिक्री करने वाले दल कभी झारखंड के विकास के लिए काम  नहीं कर सकते। उन्होंने पूर्व केंद्रीय मंत्री और झारखंड मुक्ति मोर्चा के नेता हेमंत सोरेन की कांग्रेस के साथ चुनाव-पूर्व गठबंधन करने के लिए भी आलोचना की। शाह ने कहा, 'जब  भाजपा और गुरु जी (झामुमो प्रमुख शिबू सोरेन) अलग झारखंड के लिए प्रदर्शन कर रहे थे, तब कांग्रेस ने इस मांग का विरोध किया था और राज्य के युवकों पर गोलियां चलवाई  थीं। मैं हेमंत जी से पूछना चाहता हूं कि कांग्रेस से हाथ मिलाने के लिए उन्हें किस बात ने प्रेरित किया।'

राहुल को शाह का चैलेंजसोमवार को चक्रधरपुर में एक रैली को संबोधित करते हुए भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के अध्यक्ष अमित शाह ने कांग्रेस नेता राहुल गांधी को खुला चैलेंज दिया। राहुल गांधी के  बारे में शाह ने कहा कि राहुल बाबा आपके 55 साल के शासन और हमारे पांच साल के शासन का हिसाब लेकर मैदान में आ जाओ। पूर्ववर्ती सरकार के बहाने कांग्रेस को घेरते हुए  अमित शाह ने कहा, ''आप बताइए कि देश में से घुसपैठिए जाने चाहिए कि नहीं? कांग्रेस पार्टी कहती है कि एनआरसी मत लाओ, घुसपैठियों को मत निकालो। राहुल बाबा, जो  बोलना हो बोलो, लेकिन अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हैं और भाजपा सरकार पूरे देश में एनआरसी लागू करके घुसपैठियों को चुन-चुन कर निकालेगी।''
राहुल गांधी को मैदान में आने का खुला चैलेंज देते हुए अमित शाह ने आगे कहा, ''आज राहुल गांधी यहां पर हैं, मैं उनको चैलेंज देने आया हूं कि राहुल बाबा आपके 55 साल के  शासन और हमारे पांच साल के शासन का हिसाब लेकर मैदान में आ जाओ।'' बता दें कि लंबे समय से चुनाव प्रचार से दूर चल रहे राहुल गांधी सोमवार को सिमडेगा में रैली को संबोधित किया।
केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने विपक्ष के मुख्यमंत्री उम्मीदवार और झारखंड मुक्ति मोर्चा (जेएमएम) नेता हेमंत सोरेन को भी आड़े हाथ लिया। शाह ने कहा, ''मैं हेमंत जी को पूछना  चाहता हूं कि यही कांग्रेस झारखंड की रचना का विरोध कर राज्य के युवाओं पर गोलियां चलवाती थी, डंडे बरसवाती थी। ऐसी पार्टी की गोद में क्यों बैठे हैं?'' हेमंत सोरेन पर सत्ता  के लालच का आरोप लगाते हुए शाह ने कहा, ''आज हेमंत जी सत्ता के लालच में झारखंड राज्य के निर्माण का विरोध करने वाली कांग्रेस पार्टी की गोदी में बैठकर मुख्यमंत्री बनने   निकले हैं। उनका उद्देश्य केवल सत्ता प्राप्त करना है, लेकिन भाजपा का उद्देश्य झारखंड को विकास के रास्ते पर आगे ले जाना है।
गौरतलब है कि हेमंत सोरेन की अगुवाई वाली जेएमएम झारखंड में कांग्रेस और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) के साथ मिलकर विधानसभा चुनाव लड़ रही है। इस गठबंधन की ओर  से हेमंत सोरेन को मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार भी घोषित किया गया था।

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget