सावरकर को कटघरे में खड़ा करना फैशन

मुंबई
शिवसेना ने वीर सावरकर पर सवाल उठाने वालों को एक बार फिर से घेरा है और निशाने पर एक बार फिर से कांग्रेस है। शिवसेना ने मुखपत्र 'सामना' के जरिये इशारों-इशारों में कांग्रेस पर निशाना साधा है। शिवसेना ने कहा है कि आजादी की लड़ाई और देश के निर्माण में जिनका योगदान नहीं है, वही लोग सावरकर को अपराधियों के कटघरे में खड़ा करते  हैं। ऐसे में यह उनके लिए फैशन बन चुका है। 'सामना' में कहा गया है कि स्वतंत्रता संग्राम के दौरान वीर सावरकर जैसी यातनाएं किसी ने नहीं झेलीं। कहा जाता है कि सावरकर  अंग्रेजों से माफी मांगकर छूटे, लेकिन यह अर्धसत्य है। शिवसेना के अनुसार, यदि सावरकर ने माफी का दाव खेला ही होगा तो इसमें गलत क्या है? शिवसेना ने 'सामना' में संपादकीय के जरिये आगे कहा है कि सावरकर को अंग्रेजों ने फांसी की सजा दी होती तो वह हंसते-हंसते फांसी पर झूल गए होते। बता दें कि वीर सावरकर भाजपा और शिवसेना के  लिए आइकॉन हैं। दोनों पार्टियां उनकी विचारधारा को फॉलो करती हैं। वहीं, कांग्रेस वीर सावरकर को लेकर शुरू से ही भाजपा पर हमलावर रही है।
कांग्रेस का कहना है कि सावरकर ने जेल से रिहाई के लिए अंग्रेजों से माफी मांगी थी। वहीं, हाल ही में राहुल गांधी ने वीर सावरकर को लेकर ऐसा बयान दे दिया, जिससे यह मुद्दा  और गर्म हो गया। दरअसल, राहुल गांधी ने बीते दिनों एक जनसभा को संबोधित करते हुए कहा था, 'मैं वीर सावरकर नहीं हूं जो माफी मांगूंगा।' राहुल के इस बायन के बाद पूरे देश  में फिर से बहस शुरू हो गई। यही वजह है कि शिवसेना ने 'सामना' के जरिये इस मुद्दे पर पलटवार किया है।
Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget