सपा कार्यकर्ताओं ने विधानसभा के बाहर दिया धरना

लखनऊ/मऊ
नागरिकता संशोधन ऐक्ट के खिलाफ  यूपी के मऊ में हिंसक प्रदर्शन के बाद फिलहाल तनावपूर्ण शांति है। एडीजीआशुतोष पांडेय ने बताया कि फिलहाल यहां शांति कायम है। शहर के  दक्षिण टोला इलाके में पुलिस और पीएसी का मार्च जारी है। इसी जगह सोमवार को हिंसा भड़की थी। उधर लखनऊ स्थित यूपी विधानसभा के बाहर समाजवादी पार्टी नेताओं और  कार्यकर्ताओं ने दिल्ली के जामिया यूनिवर्सिटी के छात्रों पर हुए लाठीचार्ज का विरोध किया। इस दौरान एसपी विधायक ने कपड़े उतारकर प्रदर्शन किया। प्रयागराज में भी धारा-144 लागू कर दी गई है। लखनऊ विधानसभा के बाहर हाथ में पोस्टर लेकर कार्यकर्ताओं ने नागरिकता संशोधन कानून का विरोध किया। इस दौरान एसपी विधायक नईम उल हसन ने  कपड़े उतारकर प्रदर्शन किया। नईम बिजनौर की नूरपुर सीट से विधायक हैं।
उनके साथ बाकी कार्यकर्ताओं ने हाथ भारत के नक्शे की तक्ती और संविधान की कॉपी लेकर बेड़ियां पहने हुए नागरिकता कानून का विरोध किया। कार्यकर्ताओं ने भारत को बेड़ियों में जकड़े हुए दिखाया। नागरिकता संशोधन कानून के विरोध की आग पूर्वांचल तक पहुंच चुकी है। मऊ के बाद प्रयागराज में भी धारा 144 लागू कर दी गई है। सोमवार को इलाहाबाद  विश्वविद्यालय में भी छात्रों ने दिल्ली में छात्रों पर हुए लाठीचार्ज के विरोध में यूनियन हाल के बाहर विरोध प्रदर्शन किया। पुलिस बर्बरता के विरोध में प्रदर्शन कर रहे छात्रों ने  नागरिकता संशोधन ऐक्ट को वापस लिए जाने की मांग की।
उधर मऊ में शहर के दक्षिण टोला इलाके में पुलिस और पीएसी ने मार्च किया। इस दौरान इक्का-दुक्का दुकानें खुल रही हैं। मऊ में हालात को काबू करने के लिए लखनऊ से एडीजी  आशुतोष पांडेय के साथ डीआईजी आजमगढ़ मनोज और एडीजी वाराणसी जभूषण लगातार स्थिति पर नजर रख रहे हैं। हालांकि अभी पूरे जिले में इंटरनेट सेवाएं ठप हैं। नागरिकता  ऐक्ट के विरोध में सोमवार की शाम से ही उपद्रवियों ने शहर का माहौल बिगाड़ कर रख दिया था। हालात सामान्य होने के साथ पुलिस ने उपद्रवियों का धरपकड़ शुरू कर दिया है।  हिंसा के वीडियो के आधार पर पुलिस ने 19 को गिरब्तार करने के साथ आठ और संदिग्ध लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू किया है। दिल्ली में नागरिकता कानून के खिलाफ  प्रदर्शन के दौरान बसों में आग लगा दी गई। 
पुलिस और प्रदर्शनकारियों के बीच झड़प के दौरान यह घटना हुई है। प्रदर्शनकारियों ने 4 बसों में और पुलिस के 2 वाहनों में आग लगा दी, फिर स्थानीय लोगों के घरों से पानी मंगाकर बुझाने की कोशिश की गई। दमकलकर्मियों के आने के बाद आग पर काबू पाया जा सका। प्रदर्शन के कारण ट्रैफिक बुरी तरह प्रभावित हुआ। पुलिस को ट्रैफिक डायवर्ट करना  पड़ा, जिससे आम लोगों को मुश्किलों का सामना करना पड़ा। जिला प्रशासन ने सोमवार रात से ही शरारती तत्वों को वीडियो के आधार पर गिरब्तार करने की कार्रवाई करना शुरू  किया। जिले में धारा 144 लागू किया गया। इसके साथ ही इंटरनेट सेवा पर भी रोक लगाकर सभी स्कूल कॉलेजों को बंद कर दिया गया। मंगलवार सुबह से ही शहर के हालात बिल्कुल सामान्य है। इसके बावजूद भी तनाव की स्थिति बनी हुई है। पुलिस द्वारा जगह-जगह शहर के अंदर और बाहर जाने वालों की तलाशी ली जा रही है। 

Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget