ओडीओपी इंटेग्रेटेड प्रोडक्ट डेवलपमेंट एंड मार्केटिंग सेंटर

आजमगढ
वन डिस्ट्रिक्ट वन प्रोडक्ट के लिए अब जिले को ब्लैक पॉटरी के लिए नई सौगात मिलने जा रही है। सामान्य सुविधा केंद्र खुल जाने से विश्व प्रसिद्ध ब्लैक पाटरी कारोबार को एक और संजीवनी मिल जाएगी। शासन स्तर से कु्हारों को प्रोत्साहन देने और मिट्टी कला को एक औद्योगिक रूप में स्थापित करने के लिए आजमगढ़ मंडल में निजामाबाद की ब्लैक पाटरी को चयनित किया गया  है। जिला उद्योग एवं प्रोत्साहन केंद्र से शासन को प्रस्ताव भेज दिया गया है।
सबकुछ ठीक रहा तो प्रदेश सरकार की इस योजना के तहत ब्लैक पॉटरी से जुड़े कलाकार भी हाईटेक होंगे और उनके उत्पाद को मार्का भी मिल जाएगा। ब्लैक पाटरी टेराकोटा समिति द्वारा  ओडीओपी सामान्य सुविधा केंद्र प्रोत्साहन के तहत इंटेग्रेटेड प्रोडक्ट डेवलपमेंट एंड मार्केटिंग सेंटर आजमगढ़ के निजामाबाद में खुलेगा। प्रशिक्षण के साथ औद्योगिक इकाई के रूप में ब्रांड के रूप में  प्रर्दिशत होंगे। शासन द्वारा मिट्टी कला क्षेत्र को औद्योगिक रूप देने के लिए अब कवायद शुरू कर दी गई है। शासन की मंशा है कि जहां मिट्टी के कार्य ज्यादा होते है। वहां औद्योगिक सहकारी  समिति बनाकर सुविधा केंद्र खोले जाएं। आधुनिक संसाधनों की कमी के चलते मिट्टी कला के हुनर उत्पाद प्रर्दशनी व बाजार की कमी से जूझते हैं, जो अब एक औद्योगिक रूप में विकसित होगें।   इससे से काफी सहूलियत मिलेगी। मिट्टी को हाथ से और पानी में डालकर उत्पाद तैयार किया जाता है। इसके लिए पग मिल का प्रयोग नहीं किया जाता। मिट्टी और पानी के मिश्रण के साथ तैयार माल की क्वालिटी बेहतर हो जाती है। उन्नत भट्टी के अभाव में कारीगर द्वारा माल पारंपरिक रूप से तैयार किया जाता है। सुविधा केंद्र द्वारा विद्युत या गैस आधारित भट्टी लगाई जाएगी,  जिसमे कारीगर द्वारा अपनी इकाई में कच्चा माल तैयार कर सुविधा केंद्र की भट़टी में पका सकेंगे। 
इस सुविधा के तहत उससे भरने में राहत मिलेगी। क्योंकि तैयार माल भेजे जाने के दौरान टूट-फूट जाते है। इस केंद्र से पैकिंग और लेबलिंग की सुविधा होगी। अभी निजामाबाद ब्लैक पाटरी कीपुआल और पुराने गत्तों के सहारे पैक किए जाते है। इससे मार्केटिंग में बेहतर पैकिंग से माल सुरक्षित होंगे। इस योजना के तहत प्रशिक्षण के लिए, जो लखनऊ में होना है उसके लिए योजना  से जुड़े लोगों ने तकरीबन दो दर्जन मिट्टी कला से जुड़े लोगों को चयनित किया है। ये शीघ्र ही लखनऊ में प्रशिक्षण प्राप्त करेंगे। इस कार्ययोजना के तहत भूमि की तलाश शुरू हो गई है। योजना  से जुड़े लोगों ने शीघ्र ही कार्य शुरू होने की उम्मीद जताई है। चयनित भूमि पर आधुनिक मशीनों से काम शुरू हो जाएगा, जिसकी प्रकिया तेज है। प्रशिक्षण के बाद सब कुछ ठीक रहा तो कार्य  आगे बढ़ेगा। 

Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget