26 जनवरी पर सुरक्षा में सेंध लगा सकते हैं सीएए विरोधी

नई दिल्ली
केंद्रीय गृह मंत्रालय ने अर्धसैनिक बलों, खुफिया एजेंसियों को पत्र लिखकर चेताया है कि गणतंत्र दिवस पर सीएए प्रदर्शनों का साया पड़ सकता है। पत्र में आशंका जताई गई है कि  सीएए के खिलाफ प्रदर्शनकारी सुरक्षा में सेंध लगा सकते हैं। पत्र में लिखा है कि मुस्लिम कट्टरपंथी भावनाओं को भड़का रहे हैं। सीएए और एनआरसी के मुद्दे पर उकसाया जा रहा है।  इस पत्र में कहा गया है कि संवेदनशील मामले पर कट्टरपंथी ताकतें लोगों की भावनाओं को भड़काने का काम कर रही हैं। देश विरोधी ताकतें सरकार विरोधी भावनाओं का फायदा उठा  सकती हैं। अभी दिल्ली समेत देश के अन्य हिस्सों में प्रदर्शन और हिंसा की खबरें मिल रही हैं। ऐसे में सरकार 26 जनवरी पर कोई भी खतरा मोल नहीं लेना चाहती। केंद्रीय गृह  मंत्रालय ने सोशल मीडिया का हवाला देते हुए लिखा कि इस प्लेटफॉर्म पर प्रधानमंत्री मोदी के विरोध में आपत्तिजनक संदेशों में वृद्धि हुई है। पीएम मोदी को धमकी भरे गुमनाम पत्र   भेजे जा रहे हैं। ये संदेश प्रधानमंत्री, अन्य गणमान्य व्यक्तियों के खिलाफ खतरे की गंभीरता को दर्शाते हैं। ऐसे में कोई व्यक्ति अपने मंसूबों को पूरा करने के लिए किसी भी हद  तक जा सकता है। देश के कई शहरों में सीएए और एनआरसी को लेकर जिस तरह से प्रदर्शन हो रहे हैं, उन्हें देखते हुए गृह मंत्रालय ने ये चेतावनी जारी की है। जमू-कश्मीर में भी  कड़ी सुरक्षा सीमा पार आतंकवादियों की मौजूदगी के बारे में मिली खुफिया सूचनाओं के मद्देनजर और गणतंत्र दिवस समारोह के दौरान सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए जम्मू और  कश्मीर में सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई है।
अधिकरियों ने बताया कि जम्मू और कश्मीर के उपराज्यपाल जीसी मुर्मू 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस समारोह के मुख्य आयोजन स्थल मौलाना आजाद स्टेडियम में सलामी लेंगे।  जम्मू के पुलिस महानिरीक्षक मुकेश सिंह ने कहा कि जम्मू को अलग- अलग क्षेत्रों में विभाजित किया गया है और पूरे क्षेत्र में पर्याप्त तैनाती की गई है। विशेष रूप से मुख्य  समारोह स्थल और इसके आसपास के क्षेत्रों की जांच चल रही है। उन्होंने कहा कि अंतर्राष्ट्रीय सीमा के पास आतंकवादियों द्वारा घुसपैठ की आशंका के बारे में खुफिया सूचनाएं मिली  हैं और इस कारण सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के साथ बैठक कर घुसपैठ की रोकथाम और आतंकियों के प्रयास को विफल करने के उपायों के बारे में चर्चा की गई है। इस महीने  की शुरुआत में राजौरी जिले के नौशेरा सेक्टर में नियंत्रण रेखा के किनारे आतंकवादियों के एक समूह की घुसपैठ की खबरों को देखते हुए सुरक्षबलों को तैनात किया गया है।
Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget