बर्फीला तूफान : छह जवान शहीद

Snow storm
श्रीनगर
उत्तरी कश्मीर में रविवार से भारी बर्फबारी हो रही है। इससे कई जगहों पर हिमस्खलन (एवलांच) हुआ। माछिल सेक्टर में नियंत्रण रेखा के पास एवलांच ने सेना की चौकी को चपेट  में ले लिया। इस दौरान बर्फ में दबने से 4 जवान शहीद हो गए। 5 अन्य जवान बर्फ में दब गए थे, जिनमें से 4 को निकाल लिया गया, जबकि एक जवान का शव बरामद हुआ।  नौगाम सेक्टर में तैनात एक बीएसएफ कांस्टेबल भी हिमस्खलन की चपेट में आने से शहीद हो गया। उधर, मध्य कश्मीर के गांदरबल जिले में हिमस्खलन की चपेट में आने से 5  लोगों की भी मौत हो गई। लद्दाख के किन्नौर में हैलीकॉप्टर की मदद से फंसे हुए पर्यटकों को बाहर निकाला।
सैन्य सूत्रों के मुताबिक, रामपुर और गुरेज सेक्टर में भी हिमस्खलन के कारण सेना की चौकियों को नुकसान पहुंचा है। यहां भी एक जवान के शहीद होने की सूचना मिली है।  हालांकि अधिकारिक तौर पर इसकी पुष्टि नहीं की गई। बर्फ में फंसे जवानों को रेस्क्यू करने के लिए वायुसेना की मदद ली जा रही है। भारी बर्फबारी के कारण कुपवाड़ा, बांदीपोरा  और बारामूला जिले में कई घरों को नुकसान पहुंचा है। उत्तरी और मध्य कश्मीर के ऊपरी इलाकों में भारी बर्फबारी की चेतावनी दी गई है। माछिल सेक्टर में नियंत्रण रेखा के पास  एवलांच ने सेना की चौकी को चपेट में ले लिया। इस दौरान बर्फ में दबने से 4 जवान शहीद हो गए। वहीं, बर्फ में फंसे 5 जवानों को निकालने के लिए सेना लगातार रेस्क्यू  ऑपरेशन चला रही है। सेना ने 4 जवानों को बर्फ से बाहर निकाल लिया, जबकि एक जवान का शव बरामद किया गया। निकाले गए जवानों में से दो जवान अचेत हैं। खराब मौसम  के चलते उनके इलाज में भी परेशानी हुई।

बीमार पर्यटकों को सेना के हेलिकॉप्टर ने अस्पताल पहुंचाया
लद्दाख में भारी बर्फबारी के पास फंसे पर्यटकों के लिए सेना लगातार खोज और बचाव अभियान चला रही है। सेना ने बताया कि लद्दाख में जमी हुई जांसकर नदी पर सालाना चादर  ट्रेकिंग के दौरान खराब मौसम में फंसे पर्यटकों की खोज और बचाव के लिए फायर एंड फ्यूरी कॉर्प्स ने एक के बाद कई सर्च ऑपरेशन शुरू किए। सेना के अधिकारियों ने कहा कि  लगातार बर्फ में रहने की वजह से फ्रॉस्टबाईट और ऊंचाई पर सांस लेने में मुश्किल के चलते गंभीर रूप से बीमार 6 पर्यटकों को हेलिकॉप्टर से लेह के आर्मी अस्पताल में भर्ती कराया गया।
गांदरबल में सेना ने पहाड़ के नीचे दबे चार लोगों की जान बचाई वहीं, गांदरबल जिले के कुल्लन इलाके में सोमवार रात को बर्फ का पहाड़ दरकने से 9 लोग इसकी चपेट में आ गए  थे। इसके बाद सेना के जवानों ने बर्फ में दबे लोगों को रेस्क्यू किया। यहां से चार लोगों को सुरक्षित निकाल लिया गया, जबकि 5 की जान चली गई। इनमें एक पिता और उसके दो  बेटे शामिल हैं। इसमें से दो का शव सोमवार रात को, जबकि तीन का शव मंगलवार सुबह बरामद हुए। इससे पहले बारामूला जिले के गुलमर्ग में दो बच्चियां हिमस्खलन में फंस गई  थीं, जिन्हें रेस्क्यू कर लिया गया। हिमाचल प्रदेश में भी लगातार बर्फबारी हिमाचल प्रदेश में भी पिछले 48 घंटों से लगातार बर्फबारी हो रही है। किन्नौर में घरों और सड़कों पर बर्फ  की मोटी परत जम गई है। पूह गांव में बर्फ के चलते पहाड़ों और घरों का रंग एक जैसा नजर आ रहा है।

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget