डेबिट-क्रेडिट कार्ड को कर सकेंगे स्विच ऑन-ऑफ

Credit Card lock
नई दिल्ली
भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने बैंकों और कार्ड जारी करने वाली अन्य कंपनियों को निर्देश दिया कि वे अपने ग्राहकों को अपने डेबिट व क्रेडिट कार्ड को स्विच ऑन और ऑफ   करने की सुविधा दें। साइबर फ्रॉड के बढ़ते मामलों को देखते हुए आरबीआई ने डिजिटल लेन-देन में सुरक्षा बढ़ाने के लिए यह कदम उठाया उठाया है। कार्ड के जरिए होने वाले भुगतान में भारी बढ़ोतरी हुई है। इसे देखते हुए आरबीआई ने यह भी निर्देश दिया कि फिजिकल या वर्चुअल सभी कार्ड को इश्यू या री-इश्यू करने के समय इसे सिर्फ कांटैट आधारित   प्वाइंट ऑफ यूज (एटीएम और प्वाइंट ऑफ सेल) पर उपयोग होने के लिए इनेबल किया जाए। आरबीआई ने एक सर्कुलर में कहा कि कार्ड इश्यू करने वाली कंपनी या बैंक को अपने  कार्डहोल्डर्स को कार्ड नॉट प्रजेंट (डोमेस्टिक एवं इंटरनेशनल) ट्रांजेशंस, कार्ड प्रजेंट (इंटरनेशनल) ट्रांजेशंस और कांटैटलेस ट्रांजेक्शन इनेबल करने की सुविधा देनी चाहिए। कार्ड नॉट प्रजेंट  का मतलब है ऑनलाइन ट्रांजेक्शन।
आरबीआई ने कहा कि कार्ड को स्विच ऑन/ऑफ करने, ट्रांजेक्शन का लिमिट तय करने की सुविधा हर वत और कई माध्यमों के जरिए दिया जाए। माध्यमों में मोबाइल एप्लीकेशन,  इंटरनेट बैंकिंग, एटीएम या इंटरेटिव वॉयस रिस्पांस शामिल हैं। आरबीआई ने कहा कि मौजूदा कार्ड में कार्ड नॉट प्रजेंट (डोमेटस्टिक और इंटरनेशनल) ट्रांजेशंस, कार्ड प्रजेंट (इंटरनेशनल) ट्रांजेशंस और कांटैटलेस ट्रांजेक्शन का राइट डिसेबल करना है या नहीं यह फैसला कार्ड जारी करने वाली कंपनी रिस्क परसेप्शन के आधार पर ले सकती है।
Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget