आतंकियोंको पनाह देनेवाला डीएसपी सस्पेंड

Devinder Singh
श्रीनगर
जम्मू-कश्मीर में आतंकियों के साथ अरेस्ट किए गए डीएसपी देविंदर सिंह को पद से बर्खास्त कर दिया गया है। इसकी जांच अब एनआईए के हवाले कर दी गई है। बर्खास्त डीएसपी  देविंदर पर आरोप है कि उसने श्रीनगर के बादामी बाग कैन्टोन्मेंट के बगल में स्थित अपने घर में आतंकियों को पनाह दी और उनके जम्मू जाने का इंतजाम भी किया। सुरक्षा जेंसियों को शुरुआती जांच में यह भी पता चला है कि डीएसपी आतंकियों को  जम्मू ले जाने के लिए 12 लाख रुपए लिया करता था। पद से निलंबन की कार्रवाई के बाद डीएसपी  देविंदर के श्रीनगर एयरपोर्ट स्थित ऑफिस को सील किया जा सकता है। देविंदर सिंह जम्मू-कश्मीर पुलिस के आतंकवाद रोधी विशेष अभियान समूह (एसओजी) में एक सब- इंस्पेक्टर के रूप में शामिल हुए थे और वह वीरता के लिए प्रतिष्ठित पुलिस पदक हासिल करने के साथ डीएसपी रैंक पर तेजी से पहुंचे। उन्हें यह वीरता पुरस्कार आतंकवाद रोधी  ड्यूटी के लिए मिला। सूत्रों ने कहा कि देविंदर सिंह से उनका राष्ट्रपति वीरता पदक पुरस्कार लिया जा सकता है। इस प्रक्रिया पर विचार किया जा रहा है। शनिवार की सिंह की  गिरफ्तारी के बाद पुलिस ने मीडिया से कहा कि देविंदर सिंह अपने जम्मू के घर में आतंकवादियों को पनाह देता था। इसके साथ ही अपने पैतृक घर पुलवामा जिले के त्राल में भी  वह ऐसा ही करता था। कश्मीर जोन के इंस्पेक्टर जनरल विजय कुमार ने कहा कि आतंकवादियों को जम्मू तक पहुंचाने के लिए सिंह 12 लाख रुपये लेता था।

हिजबुल आतंकियों को अपने घर में भी दी थी पनाह
जम्मू-कश्मीर के कुलगाम में रविवार को चेकिंग के दौरान एक गाड़ी से हिजबुल मुजाहिदीन के तीन आतंकियों को गिरफ्तार किया गया था। जिस वक्त इन आतंकियों को पकड़ा गया  उस समय उनके साथ गाड़ी में जम्मू-कश्मीर पुलिस का एक डीएसपी देवेंद्र सिंह भी मौजूद था। देवेंदर सिंह से पूछताछ की जा रही है। इस बीच सूत्रों ने सोमवार को बताया कि देवेंद्र सिंह ने आतंकियों को अपने घर में भी पनाह दी थी। देवेंद्र सिंह की गिरफ्तारी के बाद उनके घर पर मारे गए छापे के बाद ये जानकारी सामने आई है।
सूत्रों ने बताया कि छापेमारी के दौरान एक एके राइफल और दो पिस्टल भी बरामद की गई। जम्मू-श्रीनगर हाईवे पर जब देवेंदर सिंह को पकड़ा गया था, तब वो हिजबुल आतंकियों 
को कश्मीर से बाहर ले जा रहा था।

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget