प्लेन गिराने की गलती मान कुछ छिपा रहा ईरान!

Ukren Plane crash
तेहरान
यूक्रेन के विमान हादसे में ईरान ने अपनी गलती मान ली है। ईरानी सरकार का कहना है कि उनकी ही मिसाइलों ने गलती से यात्री विमान को निशाना बना लिया था। ईरान की  आर्मी का कहना है कि विमान उनके मिलिटरी एरिया की तरफ बढ़ रहा था, जिसकी वजह से गलती हुई, लेकिन कुछ रिपोर्ट्स ऐसी हैं, जो ईरान के दावे से उलट हैं, उनसे लगता है  कि ईरान अभी भी कुछ छिपा रहा है। इस बीच यूक्रेन ने ईरान की ओर से गलती माने जाने के बाद तीखी प्रतिक्रिया दी है। यूक्रेन ने कहा कि अब सच बाहर आ गया है। ईरान  मृतकों के शव हमें सौंपे और घटना पर हर्जाना दे। दरअसल, तेहरान से उड़ान भरने के कुछ ही मिनट बाद यूक्रेन का विमान क्रैश हो गया था। अब ईरान ने इसकी जिम्मेदारी लेते हुए माना कि ईरानी मिसाइलों ने ही विमान को गलती से निशाना बनाया था। अपनी गलती के पीछे ईरान ने अमेरिका पर दोष मढ़ने की कोशिश भी की है। ईरान के विदेश मंत्री  जवाद जरीफ ने कहा था कि अमेरिका के कारण बनी खराब परिस्थितियों में यह मानवीय भूल हुई। इस विमान हादसे में 176 लोगों की मौत हो गई, जिनमें ईरान के 82 और कनाडा  के 63 नागरिक थे। 8 जनवरी को यह विमान यूक्रेन की राजधानी कीव जा रहा था। इसमें ईरान और कनाडा के अलावा यूक्रेन के 11, स्वीडन के 10, अफगानिस्तान के चार, जबकि  जर्मनी और ब्रिटेन के तीन-तीन नागरिक सवार थे।

ईरानी आर्मी ने बताया चूक
ईरानी मीडिया में चल रहे आर्मी के बयानों के मुताबिक, उन्होंने प्लेन को दुश्मन का विमान समझा था। ऐसी गलती कैसे हुई? इस पर अधिकारी ने कहा कि गंभीर हालातों के बीच  (अमेरिका द्वारा हुए हमले) बोइंग फ्लाइट 752 मिलिटरी एरिया की तरफ मुड़ा था। उसकी ऊंचाई और ऐंगल देखकर उसे दुश्मन का विमान समझ लिया गया। अधिकारी ने इसे  मानवीय भूल बताया, जिसमें अनजाने में विमान को गिरा दिया गया।

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget