'जलवायु परिवर्तन की चुनौतियों से निपटने के लिए भारत अपनी जिम्मेदारी के प्रति सजग'

नई दिल्ली
पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा है कि जलवायु परिवर्तन की चुनौतियों से निपटने के लिए वैश्विक स्तर पर जारी उपायों को लागू करने के प्रति  भारत सजग एवं प्रतिबद्ध भागीदार के रूप में अपनी जिम्मेदारी निभा रहा है। जावड़ेकर ने जलवायु परिवर्तन की चुनौतियों का सामना करने के लिए विभिन्न देशों के संगठन कोप के   इस साल ग्लासगो में होने वाले 26वें सम्मेलन की तैयारियों के मद्देनजर गुरुवार को बताया कि भारत सम्मेलन को सफल बनाने के लिए सकारात्मक भूमिका का निर्वाह करेगा।   जावड़ेकर ने इस सिलसिले में कोप 26 की नवनियुक्त अध्यक्ष ब्रिटेन की पूर्व मंत्री लेयर ओ नील के साथ बैठक कर सम्मेलन की कार्ययोजना पर विचार-विमर्श किया। जावड़ेकर ने  कहा कि पर्यावरण और जलवायु परिवर्तन की चुनौतियों का सामना करने के बारे में भारत शुरू से ही संजीदा और सकारात्मक भूमिका निभा रहा है। हमने कोप 26 की इस साल के  अंत में ग्लासगो में होने वाली बैठक को सफल बनाने की रूपरेखा पर विस्तार से विचार-विमर्श किया। उन्होंने कहा कि मैंने नील को सुझाव दिया है कि सम्मेलन में मुद्दों पर  आधारित विषयों को रखा जाना चाहिए, जिससे सदस्य देशों की स्पष्ट भूमिका तय की जा सके। इनमें भूमि क्षरण को रोकना और हरित क्षेत्र में विस्तार सहित अन्य ऐसे विषय  शामिल हैं, जिन पर सदस्य देशों के बीच आमराय बनाना आसान हो। उल्लेखनीय है कि कोप की 25वीं बैठक पिछले साल दिसंबर में स्पेन के मेड्रिड में आयोजित हुई थी। इसमें   जावड़ेकर ने विकसित देशों से पर्यावरण हितैषी हरित प्रौद्योगिकी विकासशील देशों को मुहैया कराने की जिम्मेदारी का निर्वाह अविलंब करने की अपील की थी।

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget