सरकारी गैर जीवन बीमा कंपनियों में राशि डाल सकती है सरकार

नई दिल्ली
आगामी बजट में केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण सरकारी गैर जीवन बीमा कंपनियों में दूसरे दौर के कैपिटल इंफ्यूजन की घोषणा कर सकती है। इन कंपनियों की वित्तीय हालत में सुधार के लिए यह घोषणा हो सकती है। केंद्र सरकार ने तीनों सरकारी गैर जीवन बीमा कंपनियों नेशनल इंश्योरेंस, ओरियंटल इंश्योरेंस और यूनाइटेड इंडिया इंश्योरेंस को पिछले महीने 2500 करोड़ रुपए का कैपिटल इंफ्यूज्ड किया था। एक रिपोर्ट में कहा गया है कि इन तीनों सरकारी बीमा कंपनियों को निर्धारित सॉल्वेंस मार्जिन के लिए 10 हजार से  12 हजार करोड़ रुपए की अतिरिक्त कैपिटल की जरूरत है। सूत्रों का कहना है कि इस राशि की पूर्ति के लिए सरकार वित्त वर्ष 2020-21 के आम बजट में घोषणा कर सकती है।  आपको बता दें कि बजट 1 फरवरी 2020 को पेश किया जाएगा। सूत्रों का कहना है कि यह कैपिटल इंफ्यूजन ना केवल इन कंपनियों की वित्तीय हालत में सुधार करेगा बल्कि  2018-19 के बजट में प्रस्तावित इन कंपनियों के विलय में भी मदद करेगा। वित्त वर्ष 2018-19 के बजट में तत्कालीन वित्त मंत्री अरुण जेटली ने तीनों कंपनियों का विलय कर  एक कंपनी बनाने के प्रस्ताव की घोषणा की थी। हालांकि, कई कारणों से अभी तक विलय की प्रक्रिया पूरी नहीं हो सकी है। इसमें कंपनियों की खराब वित्तीय हालत भी एक प्रमुख  कारण है। सूत्रों के अनुसार, विलय के बाद बनने संयुक्त कंपनी को बाजार में लिस्ट किया जाएगा। प्रारंभिक अनुमान के अनुसार विलय के बाद बनने वाली नई संयुक्त कंपनी भारत  की सबसे बड़ी सरकारी गैर जीवन बीमा कंपनी बन जाएगी जिसकी वैल्यू 1.2 से 1.5 लाख करोड़ रुपए की होगी। 31 मार्च 2017 तक तीनों कंपनियां 200 बीमा उत्पादों की बिक्री कर  रही थी। इन तीनों कंपनियों का कुल प्रीमियम 41,461 करोड़ था और बाजार हिस्सेदारी 35 फीसदी थी। तीनों कंपनियों की कुल नेटवर्थ 9243 करोड़ रुपए है पूरे देश में 6000  कार्यालयों में 44 हजार कर्मचारी कार्यरत हैं।
Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget