पाकिस्तान ही नहीं अमेरिका भी मजहबी देश है, सिर्फ भारत धर्मनिरपेक्ष : राजनाथ सिंह

Rajnath Singh
नई दिल्ली
रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने बुधवार को कहा कि भारतीय मूल्यों में सभी धर्मों को बराबर माना गया है और यही वजह है कि हमारा देश धर्मनिरपेक्ष है और यह पाकिस्तान की तरह  थियोक्रैटिक देश कभी नहीं बना। दिल्ली में गणतंत्र दिवस के उपलक्ष्य में आयोजित एनसीसी के शिविर में रक्षा मंत्री ने कहा कि हम (भारत) कहते हैं कि हम धर्मों के बीच भेदभाव  नहीं करेंगे। हम ऐसा क्यों करें? हमारा पड़ोसी देश तो यह ऐलान कर चुका है कि उसका एक धर्म है। उन्होंने खुद को मजहबी देश घोषित किया है। हमने ऐसी घोषणा नहीं की है।  हमारे साधु-संतों ने पूरी दुनिया में रहने वाले

लोगों को भी परिवार बताया
राजनाथ सिंह ने कहा कि यहां तक कि अमेरिका भी मजहबी देश है। भारत मजहबी देश नहीं है। क्यों? क्योंकि हमारे साधु-संतों ने न केवल हमारी सीमाओं के भीतर रहने वाले लोगों  को अपने परिवार का हिस्सा माना, बल्कि पूरी दुनिया में रहने वाले लोगों को भी परिवार बताया। रक्षा मंत्री ने कहा कि उन्होंने (साधु-संतों ने) वसुधैव कुटुंबकम की उक्ति दी, जिसका  मतलब है कि पूरा विश्व एक परिवार है। पूरे विश्व में यह संदेश यहां से ही गया।

'हमारे मूल्य कहते हैं, सभी धर्म बराबर'
राजनाथ सिंह ने एनसीसी रिपब्लिक डे कैंप 2020 के अवसर पर बुधवार को एनसीसी के कैडेट बैंड का अवलोकन किया और सांस्कृतिक प्रस्तुतियां देखीं। उन्होंने एनसीसी के कैडेट को  रक्षा मंत्री पदक और प्रशस्ति पत्र दिए। उन्होंने भाषण में कहा कि हमारे भारतीय मूल्य कहते हैं कि सभी धर्म बराबर हैं। इसलिए भारत ने खुद को कभी भी मजहबी देश घोषित नहीं  किया। हमने कभी नहीं कहा कि हमारा धर्म हिंदू, सिख या बौद्ध होगा। हमने ऐसा कुछ भी कभी भी नहीं कहा। हम एक धर्मनिरपेक्ष देश हैं। यहां सभी धर्म के लोग रह सकते हैं।

'विश्व के सबसे बड़े युवा संगठन एनसीसी का हिस्सा होने पर होना चाहिए गर्व'
राजनाथ सिंह ने एनसीसी के कैडेट की परेड और विभिन्न प्रस्तुतियों की सराहना की और कहा कि इससे भारतीय युवाओं में राष्ट्रीय गर्व की भावना बलवती होगी। उन्होंने कहा कि  मैंने यहां आज जो देखा, उसकी तुलना मैं उससे करने की कोशिश कर रहा था, जब मैं स्वयं एनसीसी का कैडेट था। मैं इस निष्कर्ष पर पहुंचा हूं कि वक्त बदल चुका है। अपने वक्त  में, मैं इस तरह की सांस्कृतिक प्रस्तुति की कल्पना भी नहीं कर सकता था। उन्होंने कहा कि विश्व के सबसे बड़े युवा संगठन एनसीसी का हिस्सा होने पर सभी लड़कों, लड़कियों को
गर्व होना चाहिए।

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget