आतंकियों के मददगार डीएसपी देविंदर सिंह की बर्खास्तगी की सिफारिश

श्रीनगर
जम्मू-कश्मीर के कुलगाम में आतंकियों के साथ गिरफ्तार डीएसपी देविंदर सिंह को राज्य पुलिस ने अपनी सेवाओं से बर्खास्त करने की तैयारी कर ली है। देविंदर सिंह के खिलाफ दर्ज  सारे मामलों की जांच अब एनआईए को सौंप दी गई है। इसके अलावा अधिकारी इस बात का भी पता लगा रहे हैं कि देविंदर कितने दिनों से आतंकी संगठनों के संपर्क में था। पुलिस  अधिकारियों ने देविंदर के खिलाफ कार्रवाई करते हुए उसकी बर्खास्तगी की सिफारिश की है। जम्मू-कश्मीर के डीजीपी दिलबाग सिंह ने बताया कि देविंदर सिंह के खिलाफ कार्रवाई  करते हुए उसकी बर्खास्तगी की सिफारिश की गई है। साथ ही उसको मिले पुलिस मेडल को भी वापस लेने की सिफारिश की गई है। दिलबाग सिंह ने बताया कि देविंदर सिंह को पहले  ही सस्पेंड किया जा चुका है।

आतंकियों को घर में देता था पनाह
कुलगाम से गिरफ्तार हुए जम्मू- कश्मीर पुलिस के डीएसपी देविंदर सिंह से पूछताछ में पता चला है कि वह लंबे समय से इन आतंकियों के संपर्क में था। साथ ही यह भी खुलासा हुआ कि वह 2018 में भी इन  आतंकियों को लेकर जम्मू गया था। यही नहीं, वह आतंकियों को अपने घर में पनाह भी देता था। जम्मू कश्मीर पुलिस फिलहाल देविंदर और उसके साथ पकड़े गए आतंकी नवीद से  पूछताछ कर रही है। सूत्रों के अनुसार डीएसपी देविंदर सिंह का इन आतंकियों के साथ लंबे समय से संपर्क था। सूत्रों ने बताया कि आतंकियों की दिल्ली, चंड़ीगढ़ और पंजाब में हमले की साजिश की थी।

13 जनवरी को हुई थी गिरफ्तारी
देविंदर को 13 जनवरी को कुलगाम जिले में श्रीनगर-जम्मू नेशनल हाइवे पर एक कार में गिरफ्तार किया गया था। वह हिज्बुल कमांडर सईद नवीद, एक दूसरे आतंकी रफी रैदर और  हिज्बुल के एक भूमिगत कार्यकर्ता इरफान मीर को लेकर जम्मू जा रहा था।

पुलिस को मिला था सुराग
अधिकारियों ने बताया कि डीएसपी आतंकियों को घाटी से बाहर निकालने में मदद कर रहा था। बताया जा रहा है कि डीएसपी की मदद से आतंकी दिल्ली आने वाले थे। उधर डीएसपी   के घर पर छापेमारी के दौरान 5 ग्रेनेड और 3 एके-47 बरामद हुई हैं। डीएसपी को आतंकियों के साथ गिरफ्तार करने की मुहिम का दक्षिणी कश्मीर के डीआईजी अतुल गोयल ने नेतृत्व किया और कुलगाम के पास आतंकियों की कार को रुकवाया था।

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget