मानसिक दिवालिएपन से गुजर रहा कांग्रेस का नेतृत्व

जेपी नड्डा का सीएए के बहाने विरोधियों पर अटैक

J P Nadda
आगरा
नागरिकता संशोधन कानून के समर्थन में भाजपा लगातार देश भर में रैली कर रही है। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने सीएए के समर्थन में गुरुवार को आगरा में रैली की।  उन्होंने अपने संबोधन में कांग्रेस सहित सीएए के विरोधी सभी राजनीतिक दलों पर जमकर हमला बोला। जेपी नड्डा ने कहा, ''कांग्रेस पार्टी हताश हो चुकी है। कांग्रेस पार्टी का नेतृत्व   मानसिक दिवालिएपन से गुजर रहा है।
कांग्रेस पार्टी के पिछले 8 महीने के वक्तव्य पाकिस्तान को मदद करने वाले दिखाई दे रहे हैं।'' जेपी नड्डा ने कहा ''जो लोग धर्म के आधार पर बांग्लादेश, अफगानिस्तान और  पाकिस्तान में प्रताड़ित हुए, जो बहू-बेटियों की इज्जत बचाने के लिए देश में आए और जो लोग 31 दिसंबर, 2014 से पहले देश में पहुंचे, उनको मोदी जी ने भारत की नागरिकता देना तय किया है।'' उन्होंने आगे कहा कि कांग्रेस कहती है कि इस कानून से अल्पसंख्यकों की नागरिकता छीनी जाएगी, लेकिन सीएए नागरिकता देने का कानून है, नागरिकता लेने  का नहीं। जिन लोगों को कोई जानकारी नहीं है, वो सीएए पर लोगों को भड़का रहे हैं। भाजपा नेता ने मायावती पर हमला करते हुए कहा कि आजकल बड़े-बड़े दलित नेता सीएए का  विरोध कर रहे हैं, उनको मालूम नहीं है कि जो लोग भारत में आए हैं उनमें 70% दलित हैं, जिनको भारत में रहने का अधिकार दिया है, उनको नागरिकता दी है दलित नेता और  कांग्रेस पार्टी कुछ भी सीएए के बारे में नहीं जानती है, सिर्फ भ्रम फैला रही है। इनकी राजनीति समाप्त हो चुकी है, इनको समझ में आ गया है कि देश बदल चुका है, मोदी जी के   नेतृत्व में तीव्र गति से आगे बढ़ रहा है।
महात्मा गांधी का जिक्र करते हुए भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि 1947 में महात्मा गांधी जी ने कहा था कि पाकिस्तान में रहने वाले अल्पसंख्यकों को वहां दिक्कत आ रही है, तो उन्हें  भारत में बसाने और उन्हें रोजगार देने की जिम्मेदारी भारत की है। साथ ही उन्होंने कहा कि नेहरू जी ने कहा था कि पाकिस्तान में प्रताड़ित अल्पसंख्यकों को भारत के रिलीफ फंड  से मदद देनी चाहिए। जेपी नड्डा ने कहा कि पिछले कई वर्षों तक भारत की राजनीति में जो हुआ, आजादी के बाद जो निर्णय हुए, उससे भारत को बहुत नुकसान हुआ है।
नड्डा ने कहा कि भाजपा नीतियों के आधार पर और कार्यकर्ताओं के आधार पर खड़ी है। इसलिए कार्यकर्ता की चिंता करना और विचार के लिए  समर्पित रहना, इसे आगे बढ़ाने का  काम मैं करूंगा। उन्होने कहा कि संगठन को आगे बढ़ाने में कार्यकर्ता का मान सम्मान रखा जाएगा और साथ मिलकर हम आगे बढ़ेंगे। हमारी पार्टी नीतियों और कार्यकर्ताओं के  आधार पर खड़ी है। कार्यकर्ता की चिंता करना और विचार के लिए समर्पित रहना इसको आगे बढ़ाने का काम मैं करूंगा।

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget