ओलंपिक की उम्मीदें बरकार रखने उतरेंगे साइना और श्रीकांत

Saina Shrikant
बैंकाक
भारत के अनुभवी बैडमिंटन खिलाड़ी साइना नेहवाल और किदांबी श्रीकांत बुधवार से यहां शुरू हो रहे थाईलैंड मास्टर्स सुपर 300 टूर्नामेंट में उतरेंगे तो उनकी नजरें बेहतर प्रदर्शन करके  ओलंपिक खेलने की उम्मीदें जीवित रखने पर लगी होंगी। पिछले साल खराब फॉर्म में जूझते रहे साइना और श्रीकांत बीडŽल्यूएफ रेस टू टोक्यो रैंकिंग में क्रमश: 22वें और 23वें स्थान  पर हैं। बीडŽल्यूएफ ओलंपिक क्वॉलीफिकेशन नियमों के तहत हर एकल वर्ग से सिर्फ दो खिलाड़ी ओलंपिक के लिये क्वॉलीफाई कर सकते हैं बशर्ते उनकी रैंकिंग 26 अप्रैल तक शीर्ष  16 में हो । विश्व चैंपियन पीवी सिंधू इस समय छठे और बी साइ प्रणीत 11वें स्थान पर है । पुरुष युगल में सात्विक रांकिरेड्डी और चिराग शेट्टी आठवें स्थान पर है। इन सभी का  टोक्यो ओलंपिक खेलना लगभग तय है। पिछले साल कई टूर्नामेंटों में शुरुआती दौर से बाहर होने के बाद साइना और श्रीकांत ने प्रीमियर बैडमिंटन लीग से नाम वापस ले लिया ताकि  क्वॉलीफिकेशन पर फोकस कर सकें। श्रीकांत की शुरुआत अच्छी नहीं रही, जो मलेशिया में पहले ही दौर में चीनी ताइपे के चोउ तियेन चेन से और इंडोनेशिया में स्थानीय खिलाड़ी  शेसार हिरेन आर से हारकर बाहर हो गए। लंदन ओलंपिक की कांस्य पदक विजेता साइना मलेशिया में क्वार्टर फाइनल तक पहुंची लेकिन इंडोनेशिया मास्टर्स खिताब बरकरार नहीं  रख पाई। उन्हें पहले ही दौर में जापान की सयाका तकाहाशी ने हराया। ओलंपिक क्वॉलीफिकेशन कट आफ तारीख से पहले सिर्फ आठ टूर्नामेंट  खेले जाने हैं। ऐसे में साइना और  श्रीकांत को सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करना होगा। साइना यहां डेनमार्क की लाइन होजमार्क के खिलाफ अभियान का आगाज करेगी, जिसके विरुद्ध उसका रिकॉर्ड 4- 0 का है। वहीं श्रीकांत का  सामना शेसार से होगा। भारत के समीर वर्मा मलेशिया के ली जी जिया से खेलेंगे जबकि एच एस प्रणय की टक्कर मलेशिया के ही ल्यू डारेन से होगी।
Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget