पांच महिने मे पकड़े 36 हजार 443 चालक

पटना
नए मोटर व्हीकल एक्ट लागू होने के पांच माह गुजर गए। बावजूद राजधानी में ऐसे कई वाहन चालक हैं, जो पांच गुना चालान की राशि होने के बाद भी सुधरने का नाम नहीं ले रहे।  इस कारण रोजाना राजधानी की सड़कों पर ट्रैफिक नियमों का उल्लंघन करते लोग दिखेंगे। हालांकि सितंबर से जनवरी तक ट्रैफिक पुलिस ने 36 हजार 443 वाहन चालकों को पकड़ा। इनसे मौके पर ही 03 करोड़ 70 लाख 59 हजार रुपए का चालान वसूल किया गया। इसमें 998 लोग ऐसे मिले जो जुर्माना की राशि दस गुना बढ़ने के बाद भी बिना हेलमेट चल रहे  थे। 19 हजार कार चालक और आगे की सीट पर बिना सीट बेल्ट बैठे लोग पकड़े गए। बाकी लोग वाहन के अधूरे पेपर लेकर घर से निकले और उन्हें जुर्माना भरना पड़ा। सितंबर में  पटना की ट्रैफिक पुलिस और परिवहन विभाग की टीम मेगा अभियान के साथ सड़क पर उतर गई थी। बिना हेलमेट और बिना सीट बेल्ट के कार चलाने के लिए आदत से मजबूर हो  चुके लोगों के तब होश उड़ गए, जब वे इस अभियान में पकड़े गए। नए नियम के तहत उनसे 100 की जगह एक हजार वसूले गए। सितंबर में ट्रैफिक पुलिस ने रिकॉर्ड 10 हजार 553 लोगों को बिना हेलमेट और बिना सीट बेल्ट के पकड़ा। इस महीने में साल का सबसे अधिक चालान राशि एक करोड़ 12 लाख रुपए जमा किए गए। नवंबर से जनवरी के बीच  नौ सौ से अधिक ऐसे वाहन चालक पकड़े गए जिनके पास वाहन के रजिस्ट्रेशन और प्रदूषण पेपर तो मिले, लेकिन लाइसेंस नहीं मिला। पुलिस ने ऐसे वाहन चालकों का चालान काट   दिया। हालांकि नाबालिग के हाथों में स्टेयरग मामले में दो का ही चालान कट सका है। नाबालिग के हाथ में स्टेयरिंग पर 25 हजार रुपये जुर्माना और अभिभावक पर सजा के  प्रावधान लागू होने के बाद भी छह से अधिक ऐसे लोग पहली बार पकड़े जिनसे जुर्माना राशि वसूलकर उनके अभिभावकों को समझाकर छोड़ दिया गया। फिक पुलिस के साथ  परिवहन विभाग की टीम भी तीन महीने तक लगातार चार स्थानों पर ऑटो से लेकर बसों के फिटनेस व अन्य कागजातों की जांच की। चालान का डर ऐसा रहा कि कई बस सड़क  पर नहीं  उतरीं तो कई ऑटो चालकों ने रास्ता बदल दिए, लेकिन अब ऐसा नहीं है। परिवहन विभाग ने 50 से अधिक बस मालिक से प्रदूषण के कागजात नहीं होने तो चालक के  पास लाइसेंस नहीं होने का चालान काटा। वहीं तीन सौ से अधिक ऑटो चालक बिना लाइसेंस के मिले। उनका प्रदूषण सर्टिफिकेट भी फेल मिला।
Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget