सिंगल यूज प्लास्टिक मुक्त राज्य बनेगा महाराष्ट

carry Bag
मुंबई
आगामी एक मई 'महाराष्ट्र दिवस' तक राज्य सिंगल यूज प्लास्टिक मुक्त हो जाएगा, लेकिन प्लास्टिक की पानी की बोतल पर पाबंदी नहीं होगी। पर्यावरण मंत्री आदित्य ठाकरे ने  शुक्रवार को विधान परिषद में यह जानकारी दी। उन्होंने कहा कि राज्य में सिंगल यूज प्लास्टिक को प्रतिबंधित किया गया है। प्लास्टिक बंदी पर विधान परिषद में अनंत गाडगिल  सहित विरोधी पक्ष नेता प्रवीण दरेकर, आरएन सिंह, रामहरि रूपनवार, हुस्नबानू खलीफे, वजाहत मिर्जा, जोगेंद्र कवाड़े, भाई गिरकर आदि सदस्यों ने सवाल पूछा था। जिस पर  पर्यावरण मंत्री ने जवाब दिया। मंत्री ने कहा कि प्लास्टिक को कई तरह से इस्तेमाल में लाया जाता है। सभी प्लास्टिक पर पाबंदी लगाना संभव नहीं है, क्योंकि उसके लिए दूसरे  विकल्प नहीं मिले हैं, लेकिन सिंगल यूज प्लास्टिक को राज्य में पूरी तरह से बंद कर दिया गया है। सिंगल यूज प्लास्टिक बनाने वाली 53 कंपनियों को बंद करने का आदेश पहले ही  दिया जा चुका है। ये कंपनियां बंद हो चुकी हैं। स्थानीय प्रशासन की तरफ से होटल्स, मॉल और बाजारों में प्रतिबंधित प्लास्टिक के उपयोग पर कार्रवाई की जाती है। साल 2018 से  लेकर 2020 तक 84210 किग्रा प्रतिबंधित प्लास्टिक जब्त की गई है और चार करोड़ 54 लाख रुपए बतौर दंड वसूल किए गए हैं। ठाकरे ने कहा कि प्लास्टिक के इस्तेमाल होने वाले  अन्य चीजों में जैसे बोतल, पैकेजिंग आदि पर अभी रोक नहीं लगाई गई है।

सड़क निर्माण में प्लास्टिक के उपयोग से और होगा नुकसान
पर्यावरण मंत्री आदित्य ठाकरे ने कहा की प्लास्टिक का सड़क निर्माण कार्य में अधिक उपयोग करने से और नुकसान होगा। उन्होंने कहा कि मुंबई महानगर पालिका सड़क निर्माण में   सात प्रतिशत प्लास्टिक का उपयोग कर रही है। प्लास्टिक का अधिक उपयोग किए जाने पर गर्मी के समय में सड़क से निकलने वाली गर्मी और वाहनों के टायर के घर्षण की गर्मी   से प्लास्टिक से निकलने वाले धुएं पर्यावरण को और खराब करेंगे। इसके लिए सड़क निर्माण के लिए अधिक उपयोग नहीं किया जा सकता।

बांटी जाएगी पांच करोड़ कपड़े की थैली
मंत्री ने कहा कि आगामी समय में राज्य में प्लास्टिक का इस्तेमाल रोकने के लिए पांच करोड़ कपड़े की थैली बांटी जाएगी। यह थैलियां विभिन्न समाजसेवी संगठनों के माध्यम से  वितरित की जाएगी। इससे लोगों की प्लास्टिक पर निर्भरता कम होगी और पर्यावरण का संतुलन बनाए रखने में भी मदत मिलेगी। प्लास्टिक की बोतल का रिसाइकल कर बनता है  टी शर्ट पर्यावरण मंत्री ने सदन को बताया कि प्लास्टिक की बोतलों को बैन नहीं किया गया है, क्योंकि इसका रिसाइकल कर टी शर्ट बनाने में इस्तेमाल किया जाता है। भारतीय  क्रिकेट टीम सहित अन्य क्रिकेट खिलाड़ियों और अन्य प्रकार के खेलों में खिलाड़ियों के लिए इस तरह के रिसाइकल कर टी शर्ट बनाया जाता है और उसे इस्तेमाल में लाया जाता है।

ढूंढना होगा प्लास्टर ऑफ पेरिस का विकल्प
राज्य में गणेशोत्सव के दरम्यान प्लास्टर ऑफ पेरिस से मूर्तियां बनाई जाती हैं। बांबे उच्च न्यायालय की नागपुर खंडपीठ ने प्लास्टर ऑफ पेरिस पर रोक लगाने का निर्देश दिया है,  लेकिन इस गणेशोत्सव से पहले इस पर पाबंदी लगाना कठिन होगा। यह धार्मिक और संवेदनशील मुद्दा है। मंत्री ने कहा कि पीओपी का विकल्प तलाशना होगा। सरकार प्लास्टिक बंदी  में जिस तरह लोगों का सहयोग ले रही उसी तर्ज पर प्लास्टर ऑफ पेरिस की मूर्तियां बनाने पर रोक लगाने का प्रयास करेंगे।

महाराष्ट्र में लागू होगी ई -कचरा निस्तारण की योजना
मंत्री ने कहा कि राज्य में इलेफ्ट्रानिक कचरे के निस्तारण के लिए शीघ्र निर्णय लिया जाएगा। फिलहाल, मुंबई सहित कुछ महानगर पालिकाओं में ई-कचरा का विधिवत निस्तारण  किया जाता है। इसी तरह पूरे राज्य में ई कचरा निस्तारण की योजना लागू की जाएगी।
Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget