फिर होगी भारतीय बल्लेबाजों की परीक्षा

Team India
क्राइस्टचर्च
भारत की बल्लेबाजी लाइन अप को न्यूजीलैंड के खिलाफ शनिवार से यहां शुरू होने वाले दूसरे और अंतिम टेस्ट क्रिकेट मैच में फिर से कड़ी परीक्षा से गुजरना होगा। कीवी तेज  गेंदबाज शॉर्ट पिच गेंदों के अपने मारक अस्त्र का खुलेआम इस्तेमाल करने के लिए तैयार नजर आ रहे हैं। वेलिंग्टन में वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के तहत खेली जा रही सीरीज के पहले   टेस्ट मैच में भारतीय बल्लेबाज नहीं चल पाए थे और टीम को 10 विकेट से करारी शिकस्त झेलनी पड़ी थी।

झटका मिलना सही : शास्त्री
विपरीत परिस्थितियों में समान को ठेस पहुंचने और तकनीकी खामियों के खुलकर सामने आने के बाद भारतीय बल्लेबाजी को इस प्रदर्शन ने हिलाकर रख दिया और कोच रवि शास्त्री   भी इससे सहमत हैं। शास्त्री ने दूसरे मैच की पूर्व संध्या पर कहा कि इस तरह का झटका मिलना भी सही है, क्योंकि इससे आपका दिमाग खुल जाता है। जब आप हमेशा खुले रास्ते  पर चल रहे होते हैं और हार का स्वाद नहीं चखते तो इससे आप का दिमाग कुंद पड़ सकता है।

शॉ फिट, इशांत बाहर
भारतीय टीम के अनुभवी तेज गेंदबाज इशांत शर्मा की टखने की चोट एक बार फिर उभर आई है। इशांत नेट्स पर लगातार अब्यास कर रहे थे, लेकिन शुक्रवार को वह  नेट्स पर  नहीं देखे गए और उन्होंने टीम प्रबंधन को टखने में दर्द की शिकायत की। एक सूत्र ने इस बात की पुष्टि कर दी है कि इशांत दूसरा टेस्ट नहीं खेलेंगे। सूत्र ने बताया, 'उन्होंने दर्द की  शिकायत की थी और वह टेस्ट से बाहर हो गए हैं। इशांत की जगह भरने के लिए उमेश यादव और युवा नवदीप सैनी के बीच जंग है। नवदीप ने अभी तक टेस्ट पदार्पण नहीं किया  है। वहीं टीम के मुख्य कोच रवि शास्त्री ने साफ कर दिया है कि युवा बल्लेबाज पृथ्वी शॉ की पैर की चोट ठीक हो गई है और वह खेलने को तैयार हैं।

बल्लेबाजों की कड़ी परीक्षा
हेगले ओवल की घसियाली पिच पर शनिवार को विराट कोहली, चेतेश्वर पुजारा और अजिंक्य रहाणे जैसे बल्लेबाजों को और कड़ी परीक्षा से गुजरना होगा। इस मैदान पर न्यूजीलैंड
ने एक मैच को छोड़कर अब तक सभी मैच जीते हैं। शॉर्ट पिच गेंदों के धुरंधर नील वैगनर की इस मैच में वापसी हुई है और वह टिम साउदी, ट्रेंट बोल्ट और काइली जैमीसन के  साथ मिलकर राउंड द विकेट गेंदबाजी करके पसली को निशाना बना सकते हैं।

प्लेइंग-इलेवन में बदलाव संभव
भारतीय टीम चाहेगी कि रहाणे, हनुमा विहारी और चेतेश्वर पुजारा में से कोई सकारात्मक अंदाज में बल्लेबाजी करे। इनकी रक्षात्मक बल्लेबाजी से कोहली पर दबाव पड़ता है। प्लेइंग- इलेवन में ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन की जगह रविंद्र जडेजा को शामिल किया जा सकता है।

जैमीसन या पटेल?
जहां तक न्यूजीलैंड की बात है तो वह तेज गेंदबाजी आक्रमण के साथ उतर सकता है, क्योंकि बायें हाथ के स्पिनर एजाज पटेल का बेसिन रिजर्व में खास उपयोग नहीं किया गया   था। वैगनर की वापसी के बाद टीम प्रबंधन के लिए जैमीसन को बाहर करना मुश्किल होगा जिन्होंने पदार्पण पर ही शानदार प्रदर्शन किया। जैमीसन और पटेल में से किसी एक को  प्लेइंग-इलेवन में रखने के बारे में बोल्ट ने कहा कि यह केन विलियमसन के लिए अच्छा सिरदर्द है।

बोल्ट चाहते हैं ऐसी ही पिच
विकेट पर काफी घास है और क्यूरेटर के अनुसार उसमें पर्याप्त उछाल है। बोल्ट इसी तरह की पिच चाहते हैं। उन्होंने कहा कि गेंदबाजों के लिहाज से देखें तो यह उत्साहवर्धक है।  उमीद है कि विकेट ऐसा ही रहेगा। बादल छाए रहने और इस तरह के विकेट पर सीम और स्विंग मिलेगी।

बोलिंग भी चिंता
भारतीयों के लिए बल्लेबाजी ही चिंता नहीं है क्योंकि जसप्रीत बुमरा और मोहमद शमी का पहले मैच में खराब प्रदर्शन भी चिंता का विषय है। उनकी लेंथ सही नहीं थी और वे पुछल्ले   बल्लेबाजों को जल्दी समेटने में नाकाम रहे थे।
Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget