स्कूल से बाहर पानी पीने गए बच्चे की हादसे में मौत

बेगूसराय
 बिहार के बेगूसराय में शिक्षकों के तालिबानी आदेश का खामियाजा एक छात्र को अपनी जान देकर चुकानी पड़ी। मृतक छात्र के अभिभावकों का आरोप है कि मध्यान भोजन के बाद छात्र को  स्कूल में अवस्थित चापाकल से पानी नहीं लेने दिया गया, जिसकी वजह से छात्र पानी पीने के लिए गेट के बाहर निकला और अज्ञात वाहन की चपेट में आने से उसकी मौत हो गई। घटना जिले  के गढ़पुरा थाना क्षेत्र के रजौर की है। बताया जा रहा है कि रजौर गांव निवासी मोहम्मद मकबूल का पुत्र मोहम्मद मन्ना शुक्रवार की दोपहर मध्याहन भोजन के बाद पानी पीने के लिए स्कूल से  बाहर निकला था और सड़क हादसे में उसकी मौत हो गई। पिता ने लगाया शिक्षकों पर तालिबानी फरमान का आरोप मृतक के पिता मोहम्मद मकबूल ने आरोप लगाया है कि शिक्षकों द्वारा इसलिए छात्रों को स्कूल के भीतर चापाकल से पानी नहीं लेने दिया जाता है, क्योंकि चापाकल के नजदीक पानी बहने से कीचड़ हो जाएगा। इसी वजह से छात्र विद्यालय के बाहर पानी पीने को मजबूर रहते हैं। फिलहाल पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है और आगे की छानबीन में जुट गई है। दोषी लोगों पर होगी कार्रवाई : पुलिस पांचवीं कक्षा के छात्र की मौत के बाद अब प्रशासन ने भी दोषियों पर कार्रवाई के संकेत दिए हैं। मुख्यालय डीएसपी कुंदन कुमार सिंह ने बताया कि अभी तक मृतक के परिजनों द्वारा आवेदन नहीं दिया गया है, लेकिन पुलिस के  संज्ञान में यह बातें आई हैं कि शिक्षकों के द्वारा छात्रों को पानी पीने से रोका जाता है। अगर जांच के क्रम में ऐसे मामले सामने आते हैं, तो आरोपी जो भी होंगे उन पर कार्रवाई की जाएगी। 

Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget