घड़ियों के मार्केट में एपल ने स्विस कंपनियों को पीछे छोड़ा

Apple Watch
न्यूयॉर्क
2019 में स्विस वॉच इंडस्ट्री ने जितनी घड़ियां बेंची, उससे ज्यादा घड़िया अकेले एपल ने बेंची। कंसल्टेंसी फर्म स्ट्रेटजी एनालिटिक्स का कहना है कि 2019 में सभी स्विस वॉच ब्रांड्स  ने मिलाकर 2.1 करोड़ घड़ियां बेंची, जबकि इसी दौरान एपल ने 3.1 घड़ियों की बिक्री की। हालांकि स्विस घड़ियों के एकाधिकार समाप्त होने को लेकर विशेषज्ञ एकमत नहीं हैं। कुछ  विशेषज्ञों का कहना है कि स्विट्जरलैंड में सर्टीफाइड मकैनिकल घड़ियां अभी भी एपल की घड़ियों से ज्यादा राजस्व कमा रही हैं। स्ट्रेटजी एनालिटिक्स के सीनियर एनालिस्ट स्टीवन  वाल्टजर का कहना है कि एपल वॉच स्टेटस सिंबल के रूप में उभरकर सामने आ रही हैं और वे मिड रेंज में स्विस घड़ियों को कड़ी टक्कर दे रही हैं। उनका कहना है कि एपल के  कस्टमर बेस का एक छोटा हिस्सा भी अगर एपल वॉच को खरीदता है, तो उसकी संया करोड़ों में पहुंच जाती है। स्ट्रेटजी एनालिटिक्स ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि एपल वॉच  फिटनेस लेवल को चेक करने के साथ मूवी थियेटर में जल्दी चेक-इन, जिम ट्रैक एक्टिविटी जैसी कई सुविधाएं देती हैं, इस कारण युवा वर्ग इस तरफ आकर्षित हो रहा है। एक रिपोर्ट  के मुताबिक लोगों ने एपल वॉचेज को टेक और फैशन को एक साथ जोड़ने के सॉल्युशन के रूप में लिया है। विशेषज्ञों का कहना है कि एपल की घड़ियां हेल्थ और फिटनेस सेगमेंट में  अपना नाम बना रही हैं, जबकि स्विस घड़ियां ज्वैलरी और फैशन के रूप में जानी जाती हैं।
विशेषज्ञों का कहना है कि एपल को आईफोन, आईपैड और दूसरे ब्रांडेड एपल प्रोडक्ट्स के बड़े उपभोक्ता बेस का भी फायदा मिलता है। स्विस कंपनियां भी स्मार्टवॉचेज सेल करती हैं,  लेकिन उन्हें एंड्रॉयड पर निर्भर रहना पड़ता है। ओमिडा में मीडिया और कंज्यूमर टेक एनालिस्ट रिषि कौल का कहना है कि एपल को उसके पहले से कस्टमर बेस का बहुत फायदा  मिलता है। हालांकि विशेषज्ञों का कहना है कि स्मार्ट वॉच प्रतिस्पर्धा में स्विस घड़िया जरूर पिछड़ रही हैं, लेकिन लग्जरी स्टेटस सिंबल के रूप में अभी भी स्विस घड़ियां लोगों की  पहली पसंद है।
Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget