एनडीए के साथ ही लड़ेंगे विधानसभा चुनाव, जीतेंगे 200 से ज्यादा सीटें : नीतीश

पटना
बिहार के मुख्यमंत्री और जनता दल यूनाइटेड के राष्ट्रीय अध्यक्ष नीतीश कुमार ने रविवार को जेडीयू कार्यकर्ता समेलन को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि बिहार के लोगों  ने उन्हें वर्ष 2005 में मौका दिया था, तब से वह लगातार काम कर रहे हैं। उन्होंने आगे कहा कि जो लोग उनपर सवाल उठाते हैं, उनको वह बहुत जल्द जवाब देंगे। नीतीश कुमार ने  एक बार फिर ये दोहराया कि सीएए और एनआरसी पर बनी स्टैंडिंग कमिटी में लालू प्रसाद यादव भी थे। उन्होंने कहा एनपीआर को लेकर हमने विधानसभा में प्रस्ताव लाकर साफ  कर दिया कि वर्ष 2010 वाले आधार पर ही हो एनपीआर लागू होगा और बिहार में एनआरसी लागू नहीं होगी। साथ ही नीतीश ने अपने जन्मदिन के मौके पर आगामी विधानसभा  चुनाव एनडीए के साथ ही लड़ने का ऐलान भी कर दिया। साथ ही 200 से ज्यादा सीटें जीतने का दावा भी किया। सीएम नीतीश के जन्मदिन पर पटना के गांधी मैदान में बड़ी तादाद  में जेडीयू कार्यकर्ताओं का जुटान हुआ। इस दौरान सीएम नीतीश ने कहा कि 'सीएए का मामला सुप्रीम कोर्ट में चला गया है। कोर्ट के फैसले का इंतजार कीजिए। समाज में इन मुद्दों  पर तनाव न फैलाएं। कुछ लोग चाहते हैं कि भारत का माहौल 1947 वाला हो जाए, लेकिन ऐसा किसी भी कीमत पर नहीं होने देना है। भारत एक है, एक था और एक ही रहेगा।'

तेजस्वी पर बोला  हमला
सीएम नीतीश ने तेजस्वी यादव की डोमिसाइल नीति लागू करने की मांग पर जवाब देते हुए कहा कि बिहार से माइग्रेशन नहीं होता है। देश में कोई भी कहीं भी जाकर काम कर  सकता है। केरल से नर्सें आकर काम करती हैं। बिहार में बाहर से लोग आकर काम कर रहे हैं। सीएम ने कहा कि 'हम इतना ट्रेनिंग देंगे कि लोग देश ही नहीं, बल्कि दूसरे देशों में  जाकर काम करेंगे।' सीएम नीतीश कुमार ने तेजस्वी यादव के बेरोजगारी यात्रा पर चुटकी लेते हुए कहा कि पहले क्या हाल था रोजगार का? एक अदद नौकरी के लिए बिहार की  जनता तरस जाती थी, लेकिन आज कितनी नौकरियां बिहार के लोगों को मिली हैं, ये सब जानते हैं।

अपराधों में कमी आने का दावा
सीएम नीतीश ने कहा कि साल 2018 में बिहार में अपराध की घटनाओं में कमी आई है। अपराध के मामले में बिहार देश में 23वें स्थान पर है। साफ है बिहार में अपराध लगातार  घट रहा है। हम अपराध के आंकड़े हर साल सामने लाएंगे। सीएम ने कहा कि बिहार में अपराध आपसी रंजिश और खेत-जमीन के लिए हो रहा है। इसे आप क्राइम नहीं कह सकते  हैं। नीतीश कुमार ने नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव को इशारों में निशाने पर लेते हुए कहा कि कम उम्र में राजनीति में आए कुछ लोग केवल मीडिया में आए खबरों को देख कर  बयानबाजी कर देते हैं। उन्होंने कहा कि बिहार में साल 2005 के पहले क्या हाल था और आज क्या हाल है, यह बिहार की जनता देख रही है। बिहार में कानून का राज है।

शिक्षकों की हड़ताल पर सख्त टिप्पणी
मुख्यमंत्री ने शिक्षकों की हड़ताल और आरजेडी नेताओं की बयानबाजी पर टिप्पणी करते हुए कहा कि कुछ लोग पता नहीं क्या क्या बोल रहे हैं। हमारी सरकार ने 3.50 लाख शिक्षकों  का नियोजन किया। शिक्षक लोग भूल जाते हैं कि किसने वेतन दिया। हमसे जो हो सकेगा वह करेंगे। सीएम नीतीश ने हड़ताली शिक्षकों को संबोधित करते हुए कहा कि 'अगर आप  नहीं पढ़ाएंगे तो अलोकप्रिय हो जाएंगे। सीएम नीतीश ने ऐलान किया कि हर पंचायत में इंटर तक की पढ़ाई होगी। सीएम नीतीश ने कहा कि साल 2005 के पहले सरकारी अस्पताल  में कुत्ता घूमता था, लेकिन आज सरकारी अस्पतालों में जाकर देखें तो अंतर पता चल जाएगा। नीतीश ने वर्ष 2012 के पाकिस्तान दौरे की चर्चा करते हुए कहा कि पाकिस्तान में भी   पल्स पोलियो के बारे में बिहार में किए जा रहे कामों की जानकारी लेने की काफी उत्सुकता दिखी थी।
Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget