निरीक्षण में रखे गए 229 यात्री कोरोना निगेटिव

मुंबई
स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने कहा कि राज्य में कोरोना की रोकथाम के उपायों के रूप में विभिन्न माध्यमों से लोगों में जागरुकता फैलाई जा रही है। उन्होंने आम लोगों से सार्वजनिक  कार्यक्रमों की भीड़ से बचने का आव्हान किया। फिलहाल राज्य में निगरानी में 15 लोग रखे गए हैं। 230 लोगों को घर जाने दिया गया है। मुंबई और पुणे के अंतर्राष्ट्रीय एयरपोर्ट पर  793 विमानों के जरिए आए 96 हजार 493 यात्रियों की जांच की गई। केंद्र सरकार की नई अधिसूचना के अनुसार कोरोना प्रभावित क्षेत्रों से आए यात्रियों की जांच एयरपोर्ट पर करने  का निर्णय लिया गया है। राज्य में पुणे और नागपुर में भी यात्रियों की स्क्रीनिंग शुरू हो गई है।क्शनिवार तक राज्य में कोरोना प्रभावित इलाकों से 532 यात्री आए हैं। 18 जनवरी से  बुखार, सर्दी और खांसी के लक्षण मिलने पर राज्य के अलग-अलग पृथक कमरों में अभी तक 242 लोगों को भर्ती कराया गया है।क्शनिवार तक भर्ती किए गए लोगों में से 229 के  प्रयोगशाला नमूने नेगेटिव पाए गए हैं। केंद्र की अधिसूचना के अनुसार चीन के वुहान शहर से आए हर यात्री को 14 दिन तक पृथक कक्षों में भर्ती कराया जा रहा है। अन्य प्रभावित  इलाकों से आए यात्रियों को लक्षण मिलने पर पृथक कक्ष में भर्ती कर प्रयोगशाला जांच की जा रही है। बाधित इलाकों से आए हर यात्री को 14 दिन तक घर में रहने को कहा गया  है। सभी यात्री, जो बाधित देशों से आए हैं, उनसे 14 दिनों का फॉलोअप किया जा रहा है।

विदेशी पर्यटकों ने की औरंगाबाद यात्रा रद्द
दुनिया भर में कोरोना वायरस के प्रकोप और हाल ही में भारत में कई लोगों के इससे संक्रमित पाए जाने के मद्देनजर विदेशी पर्यटकों ने अजंता और एलोरा गुफाओं के लिए मशहूर   महाराष्ट्र के औरंगाबाद की अपनी यात्राएं रद्द कर दी हैं। भारत में 16 इतालवी पर्यटकों समेत कम से कम 31 लोग कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए हैं। पर्यटकों की आमद के  लिहाज से मार्च का महीना काफी महत्वपूर्ण होता है। इस दौरान बड़ी संख्या में पर्यटक अजंता और एलोरा की गुफाएं देखने के लिए आते हैं, जिनमें अधिकतर लोग बौद्ध बहुल देशों के  होते हैं। औरंगाबाद पर्यटन विकास फाउंडेशन के प्रमुख जसवंत सिंह ने कहा कि इस साल चीन, दक्षिण कोरिया, जापान और थाईलैंड के पर्यटक समूह औरंगाबाद की अपनी यात्रा रद्द  कर चुके हैं, जिसका कार्यक्रम उन्होंने महीनों पहले बना रखा था। सिंह ने बताया कि एहतियात बरतते हुए यूरोप के यात्रियों ने भी विश्व धरोहर स्थलों से दूरी बनाई हुई है। उन्होंने  कहा कि संख्या की बात करें तो कुल 1500 में से 700 विदेशी पर्यटक अब तक कोरोना वायरस के चलते अपनी बुकिंग रद्द करा चुके हैं।

औरंगाबाद मे प्रयोगशाला शुरू करने कि मांग
कोरोना प्रतिबंध के लिए राज्य सरकार ने अनेक महत्वपूर्ण कदम उठाए हैं और जनजागृति मुहिम शुरू की है। महाराष्ट्र में कोरोना के नमूने जांच करने के लिए एक और प्रयोगशाला  की आवश्यकता को देखते हुए स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन से औरंगाबाद में प्रयोगशाला शुरू करने की मांग की है। कोरोना प्रतिबंध को लेकर देश भर  के राज्यों में शुरू उपायों का जायजा लेने के लिए केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन ने सभी राज्य के स्वास्थ्य मंत्रियों से वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए संवाद साधा। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री  ने मुंबई के हवाई अड्डे पर मेडिकल जांच पर संतोष व्यक्त करते हुए आव्हान किया कि लोक प्रतिनिधियों की मदद से लोगों में जनजागृति लाने का काम किया जाना चाहिए।
Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget