नवजात शिशुओं के लिए 30 बेड का एनआईसीयू कक्ष

ठाणे
नवजात शिशुओं को जन्म के बाद कभी-कभी एनआईसीयू कक्ष में रखा जाना जरूरी होता है। इसकी उपलब्धता नहीं होने पर बच्चों को दूसरे अस्पताल ले जाना पड़ता है। माता-पिता को ऐसी  समस्या का सामना नहीं करना पड़े, ठाणे महापौर ने निजी पहल की, उनके प्रयास से शिवाजी अस्पताल में नवजात शिशुओं के लिए 30 बेड का एनआईसीयू कक्ष साकार किया गया है। बता दें  कि इसके पहले शिवाजी अस्पताल में नवजात शिशिुओं के लिए एनआईसीयू कक्ष में बेडों की संख्या बढ़ाने हेतु आरोग्य समिति सभापति केवलादेवी यादव के साथ ही उपमहापौर और सदस्या  पल्लवी कदम, साधना जोशी, नम्रता फाटक, शिल्पा वाघ, नम्रता घरत, राधाबाई जाधवर, फरझाना शेख, जमीला खान आदि ने पहल की थी।
 जिसका अच्छा परिणाम सामने आया। इसी क्रम में  राज्य के नगरविकास तथा सार्वजनिक बांधकाम (उपक्रम) मंत्री महापौर ने एनआईसीयू कक्ष का मुआयना किया। शिंदे ने अधिकारियों को निर्देश दिया कि इस कक्ष को जल्द से जल्द शुरू किया  जाए। इस दौरान सभागृह नेता अशोक वैती, विरोधी पक्षनेता प्रमिला केणी, अतिरिक्तआयुकत 1 राजेंद्र अहिवर, वैद्यकीय अधिष्ठाता शैलेश नटराजन, जिला शल्य चिकित्सक डॉ कैलाश पवार 
आदि भी उपस्थित थे। 
कलवा के शिवाजी अस्पताल में नवजात शिशुओं के लिएएनआईसीयू कक्ष में 30 बेड की सुविधा उपलब्ध होनेसे गरीब परिवारों को राहत मिलेगी। इन बातों का जिक्र करते हुए महापौर ने कहा है  कि इस कक्ष का लाभ शहरी तथा ग्रामीण भागों के नवजात शिशुओं को मिलेगा। वैद्यकीय अधिष्ठाता शैलेश नटराजन ने बताया कि कक्ष को जल्द ही विधिवत शुरू किया जाएगा। 

Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget