कोरोना वायरस : अरबपतियों के डूबे 444 अरब डॉलर

नई दिल्ली
कोरोना वायरस के कारण ग्लोबल मार्केट बुरी तरह प्रभावित हुआ है। शुक्रवार को सेंसेस में इतिहास की दूसरी सबसे बड़ी 1448 अंकों की गिरावट दर्ज की गई। ऐसे ही हाल दुनिया के   अन्य शेयर बाजारों के भी रहे। अमेरिकी शेयर मार्केट डाउ जोन्स में एक सप्ताह में 12 पर्सेंट की गिरावट आई, जो 2008 की मंदी के बाद सबसे ज्यादा है। शेयर मार्केट में इतनी  भारी गिरावट के कारण विश्व के अरबपतियों के लाखों करोड़ रुपए डूब गए। विश्व के टॉप-5 अरबपतियों को इस सप्ताह 36 अरब डॉलर का नुकसान हुआ है। विश्व के सबसे अमीर  और ऐमजॉन के प्रमुख जेफ बेजोस की संपत्ति को 12 अरब डॉलर का नुकसान हुआ है। हालांकि वह अभी भी विश्व के सबसे अमीर शक्स हैं। विश्व के दूसरे सबसे अमीर और   माइकोसॉक्ट के बिल गेट्स की संपत्ति को 5.7 अरब डॉलर का नुकसान हुआ है। अब उनकी कुल संपत्ति 112.6 अरब डॉलर है। बर्कशायर हैथवे के वॉरेन बफेट को कुल 6.1 अरब  डॉलर का नुकसान हुआ है। विश्व के पांचवें सबसे अमीर शक्स और फेसबुक के फाउंडर मार्क जुकरबर्ग को 7 अरब डॉलर का नुकसान हुआ है। टेस्ला के सीईओ एलन मस्क को कुल  6.8 अरब डॉलर का नुकसान हुआ है। नुकसान के मामले में वे दूसरे नंबर पर हैं। उनकी कुल संपत्ति 71.4 अरब डॉलर रह गई है। वहीं कोरोना वायरस के संक्रमण से चीन की  अर्थव्यवस्था पर पड़ रहा असर अब साफ दिखने लगा है। शनिवार को जारी आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार, फरवरी में चीन में मैन्युफैचरिंग ऐटिविटी रेकॉर्ड निचले स्तर पर आ गईं।   ताजा सर्वे के अनुसार, चीन का परचेज मैनेजर इंडेस फरवरी में गिर कर 35.7 पर आ गया।
50 से नीचे सूचकांक अर्थव्यवस्था के लिए अलर्ट इस सूचकांक का 50 से नीचे रहना यह बताता है कि कारखाना उत्पादन घट रहा है। यदि सूचकांक 50 से ऊपर हो तो उसे उत्पादन   में वृद्धि का संकेत माना जाता है। गैर-मैन्युफैचरिंग गतिविधियों का सूचकांक फरवरी में 29.6 पर आ गया। यह जनवरी में 54.1 पर रहा था। चीन का मैन्युफैचरिंग पीएमआई जनवरी  में भी 50 से नीचे था।

वैश्विक शेयर बाजारों का बुरा हाल
चीन ने 2005 से इन आंकड़ों को जमा करना शुरू किया है। उसके बाद इसका यह सबसे खराब स्तर है। इससे पहले फ्लूमबर्ग के एक सर्वेक्षण में मैन्युफैचरिंग पीएमआई के फरवरी   में हल्की गिरावट के साथ 45 रहने का अनुमान जताया गया था। लेकिन ताजा आंकड़ा उससे बहुत नीचे है। चीन की अर्थव्यवस्था कोरोना वायरस संक्रमण के चलते एक तरह से पूरी   दुनिया से कट गई है। यह संक्रमण चीन से बाहर कई देशों में भी फैल चुका है। इस महामारी का विश्व की अर्थव्यवस्था पर असर गंभीर होने की आशंकाओं के चलते वैश्विक शेयर  बाजारों में 2008 के आर्थिक संकट के बाद का सबसे बुरा सप्ताह रहा।

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget