राज्यपाल लालजी टंडन ने दिया कमलनाथ को आज फ्लोर टेस्ट कराने का निर्देश

Lalji Kamalnath
भोपाल
मध्य प्रदेश के सियासी घटनाक्रम में अब नया मोड़ आ गया है। सोमवार (16 मार्च) को विधानसभा में फ्लोर टेस्ट नहीं हो पाया और स्पीकर ने राज्यपाल के अभिभाषण के बाद  विधानसभा सत्र को 26 मार्च तक के लिए स्थगित कर दिया। अब राज्यपाल लाल जी टंडन ने मुख्यमंत्री कमलनाथ को पत्र लिखकर कहा है कि वह 17 मार्च को फ्लोर टेस्ट करवाएं।  राज्यपाल के सख्त तेवर को देखते हुए कमलनाथ ने देर शाम राज्यपाल लालजी टंडन से मुलाकात की। कहा जा रहा है कि संभवत: कमलनाथ सरकार की आज परीक्षा हो सकती है। 

सोमवार को फ्लोर टेस्ट न होने पर गवर्नर ने जताई नाराजगी
राज्यपाल ने मुख्यमंत्री कमलनाथ को एक चिठ्ठी भेजी है, जिसमें सोमवार को फ्लोर टेस्ट ना कराने पर नाराजगी जाहिर की गई है। पत्र में कहा गया है राज्यपाल के अभिभाषण के   बाद मुख्यमंत्री ने फ्लोर टेस्ट कराने की 'सार्थक' कोशिश नहीं की। विधानसभा की कार्यवाही 26 मार्च तक स्थगित होने का जिक्र भी राज्यपाल ने चिठ्ठी में किया है।

गवर्नर ने कमलनाथ की भाषा को बताया 'संसदीय मर्यादाओं के खिलाफ'
राज्यपाल लाल जी टंडन ने कमलनाथ की चिठ्ठी की भाषा को 'संसदीय मर्यादाओं के प्रतिकूल' बताया है। राज्यपाल ने सीएम को लिखा है, 'आपने यह चिठ्ठी लिखकर फ्लोर टेस्ट कराने  में आना-कानी की है, जिसका कोई आधार नहीं है।' कमलनाथ ने अपनी चिठ्ठी में जो कारण गिनाए थे, राज्यपाल ने उन्हें आधारहीन और अर्थहीन बताया है।

26 मार्च तक के लिए  विधानसभा की कार्यवाही को स्थगित कर चुके हैं स्पीकर
टंडन ने कमलनाथ से कहा है कि वे 17 मार्च, 2020 तक विधानसभा में बहुमत साबित करें, नहीं तो यह माना जाएगा कि उन्हें बहुमत हासिल नहीं है। इससे पहले राज्यपाल ने  कमलनाथ को सोमवार को अपने अभिभाषण के ठीक बाद फ्लोर टेस्ट कराने को कहा था। हालांकि, सोमवार को जैसे ही राज्यपाल का संक्षिप्त अभिभाषण खत्म हुआ,स्पीकर ने  कोरोना  वायरस के खतरे के मद्देनजर विधानसभा की कार्यवाही को 26 मार्च तक के लिए स्थगित कर दिया।

फ्लोर टेस्ट की मांग को लेकर सुप्रीम कोर्ट पहुंची भाजपा
फ्लोर टेस्ट न होने पर बीजेपी ने सदन में हंगामा भी किया। बाद में शिवराज सिंह चौहान ने गवर्नर के सामने 106 भाजपा विधायकों की परेड कराकर दावा किया कि कमलनाथ   सरकार अल्पमत में है। फ्लोर टेस्ट की मांग को लेकर भाजपा सुप्रीम कोर्ट भी गई है, जिस पर आज सुनवाई होगी। जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़ और जस्टिस हेमंत गुप्ता की बेंच इस पर सुनवाई करेगी।

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget