संस्थान बर्खास्त करने को लेकर आमरण अनशन

भिवंडी
भिवंडी के गणेशपुरी स्थित भीमेश्वर सद्गुरू नित्यानंद संस्थान के अध्यक्ष और ट्रस्टियों के मनमाने कार्यभार और समाधी मंदिर की मूर्ती लेपन प्रकरण के दोषियों पर कार्रवाई करने और संस्थान  के ट्रस्टियों को निष्काषित करने की मांग को लेकर गणेशपुरी स्थित संघर्ष समिति के प्रतिनिधि सुनील देवरे ने समाधी परिसर में आमरण आमरण अनशन शुरू किया। इन्हें गणेशपुरी के सर्व  पक्षीय समर्थन प्राप्त है। इस संदर्भ में इन्होंने कहा कि जब तक मांग पूरी नहीं होगी उस समय तक अनशन जारी रहेगा। ठाणे जिला के सुप्रसिद्ध माना जाने वाला गणेशपुरी स्थित स्वामी  नित्यानंद महाराज मंदिर के भीमेश्वर सद्गुगुरु नित्यानंद संस्थान के अधक्ष रामचंद्र शेनॉय, विश्वस्त श्रीपाद जोशी, स्थानिक विश्वस्त मुरलीधर हेगडे, परशुराम सावंत की सहमति से रात के समय  मूर्तीकार ने गाभारा की समाधी पर चढकर रंगलेपन किया, जिसकारण भक्तों और ग्रामीणों की धाॢमक भावना को ठेस पहुंचाने का काम किया है, जिसके उपरांत परिसर में विगत पंद्रह दिनों से  भक्तगण, भाविक, ग्रामीणों में आक्रोश व्याप्त है। 
यहां विश्वस्त मंडल के विरुद्ध सर्वत्र आक्रोश का वातावरण है। इस प्रकरण में गणेशपुरी पुलिस स्टेशन में अध्यक्ष और दोषी विश्वस्त के विरुद्ध  मामला दर्ज है। परंतु आज तक धर्मदाय आयुक्त मुंबई की ओर से संस्थान में शुरू होने वाले मनमाने कार्यभार और संबंधित दोषियों पर कार्रवाई नहीं होने के कारण संपूर्ण विश्वस्त मंडल  बरखास्त करें, परंपरागत पूर्व से चली आ रही प्रथा अर गाभारा दर्शन के समय प्रदक्षिणा करने की प्रथा पुन: शुरू किया जाए। इसी प्रकार संस्था के अध्यक्ष विश्वस्त के कार्यकाल में होने वाले  सभी व्यवहार का स्वतंत्र ऑडिट कर दोषियों पर कार्रवाई करें तथा गणेशपुरी पंच क्रोशी के आदिवासी और मागासवर्गीय विद्याॢथयों के लिए जो निशुल्क शिक्षा वर्ग जिसे विद्यमान विश्वस्त ने बंद कर दिया है।

Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget