बच्चों को सिखाना ना भूलें ये जरूरी बाते

बच्चों की परवरिश करना किसी टास्क से कम नहीं होता। खासकर जब बच्चा घर से बाहर कदम रखने लग जाता है, तो पेरेंट्स को बहुत सी बातों का ध्यान रखना पड़ता है। इसका पहला  कारण तो यह है कि बच्चा किसी गलत रास्ते में ना जाए और दूसरा और सबसे जरूरी, बच्चों की सुरक्षा से जुड़ा है। वहीं बच्चों को बचपन में सिखाई गई बातें ही उन्हें भविष्य में बेहतर इंसान बनाती हैं। हम आपको बता रहे हैं कि आप कैसे एकअच्छे पैरेंट्स साबित हो सकते हैं, बस कुछ छोटी-छोटी बातों का ध्यान रखकर... चलिए आज हम आपको कुछ ऐसी बातें बताते हैं, जो हर  माता-पिता को अपने बच्चे को समझानी चाहिए।

बड़ों का सम्मान देना
बच्चों को बचपन से ही बड़े-बुजुर्गों का सम्मान करना सिखाएं। जो बच्चे खुद से बड़े लोगों का आदर करते हैं। उनको जीवन में आगे बढ़ने से कोई नहीं रोक सकता। अगर आप चाहते है कि  आपका बच्चा तरक्की करे तो उनमें यह अच्छी आदत जरूर डालें।  माफी मांगना बच्चों को सिखाए माफी मांगना कोई बड़ी बात नहीं है। अगर गलती आपकी ही हो उन्हें ईमानदारी से सॉरी बोल देना चाहिए। इससे बच्चा जिंदगी में कभी अपनी गलती मानने से नहीं झिझकेगा और उसमें अंहकार भी नहीं आएगा।

 समय की कीमत
पैरेंट्स को चाहिए कि वो बच्चों को बचपन से ही समय की अहमियत सिखाएं। उन्हें बताएं कि जो लोग समय की कद्र नहीं करते वक्त उन्हें पीछे छोड़ जाता है। आपकी यह एक सीख बच्चे को भविष्य में सफल बनाएगी।

खान-पान की तौर-तरीके
बच्चों को टेबल मैनर्स सिखाना भी बेहद जरूरी है। उन्हें बताए बड़े जब आपको खाना सर्व करें, तभी खाएं। आप खुद ही जल्द बाजी में खाना न परोसने लगे। साथ ही बड़ों के टेबल मैनर्स को देख  कर फॉलो करें। प्लीज एंड थैंक्यू कहना जब भी आप अपने बच्चे से कोई भी चीज मांग रहे हो या फिर उनसे कुछ पूछ रहे हो, तो प्लीज वर्ड का इस्तेमाल करना ना भूलें। इसके अलावा जब  बच्चा आपको कोई चीज लाकर दें, तो उसे थैंक्यू भी जरूर बोलें। ऐसा करने से ये आदत बच्चे भी जल्दी सीख जाते हैं। गलत दोस्ती से दूर रखें बच्चों किससे दोस्ती कर रहे हैं इस बात का भी ध्यान रखें। हालांकि उन्हें खुद सही और गलत के बीच में अंतर बताएं, ताकि वो खुद अपने लिए सही दोस्त चुनें। ऐसा इसलिए क्योंकि दोस्ती ही बच्चों को आगे का रास्ता दिखाती हैं। दूसरों की  प्रशंसा करें माता-पिता का फर्ज है कि वो सिर्फ अपने बच्चे को दूसरों की प्रसंशा करना भी सिखाएं। साथ ही चीजें शेयर करना सिखाएं। चाहे फिर ये खाने की चीजें हों या फिर खिलौने आदि।  

गुड़ और बैड टच
अच्छा पैरेंट्स बनने के लिए सबसे ज्यादा जरूरी बात है कि आप उन्हें गुड़ और बैड टच के बारे में बताए, ताकि आपका बच्चा किसी क्राइम का शिकार ना हो। साथ ही बच्चे के आने-जाने से लेकर वह किससे मिल रहा है इस बात की पूरी जानकारी रखें। अगर बच्चे के स्वभाव में अचानक कोई बदलाव आए तो बैठकर उनसे प्यार से इस बारे में पूछे।

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget