'शिक्षकों की समस्याओं का निवारण करे सरकार'

पटना
 बिहार में नियोजित शिक्षकों की हड़ताल 17वें दिन भी जारी रही। हड़ताली शिक्षक अपनी मांगों को लेकर जगह-जगह प्रदर्शन कर रहे हैं, वहीं सरकार भी झुकने को तैयार नहीं है। इसी क्रम में वे  बीते दिनों शिक्षकों ने सत्ताधारी दल से जुड़े मंत्रियों और विधायकों का घेराव भी किया था। शिक्षकों ने इस क्रम को अब भी बरकरार रखा है और कई जगहों पर विधायकों का घेराव कर रहे हैं।  गुरुवार को इसी बात की पीड़ा बीजेपी की विधायक भागीरथी देवी ने विधानसभा में जाहिर की। बीजेपी विधायक ने विधानसभा में अपनी शिकायत करते हुए सदन में कहा कि नियोजित शिक्षक  अपनी मांगों के लेकर विधायकों के घरों का घेराव करते हैं। घर के बाहर दो-दो घंटे तक शिक्षक हमें घेरे रहते हैं। सरकार इस समस्या का जल्द से जल्द निवारण करे। बहुत परेशानी है। बता दें  कि बुधवार को दरभंगा में जेडीयू के एमएलसी दिलीप चौधरी का शिक्षकों ने विरोध करते हुए नारेबाजी की थी।
 दरअसल वे शिक्षकों के धरना को संबोधित करने पहुचे थे, लेकिन शिक्षकों ने उन्हें  घेर लिया और उनसे समान काम,समान वेतन की मांग करने लगे और सरकार पर उनकी समस्याओं की अनदेखी का आरोप लगा दिया। गौरतलब है कि बीते एक मार्च को अपनी मांगों के  समर्थन में नियोजित शिक्षकों ने पटना में भी प्रदर्शन व घेराव किया। हड़ताली शिक्षकों ने डिप्टी सीएम सुशील मोदी के आवास का घेराव किया और जमकर नारेबाजी की। शिक्षकों ने कहा कि वे  समान काम, समान वेतनमान की मांग पूरी होने तक पीछे नहीं हटेंगे। मुजफ्फरपुर में घिरे मंत्री सुरेश शर्मा एक मार्च को ही मुजफ्फरपुर में हड़ताली नियोजित शिक्षकों ने नगर विकास एवं  आवास मंत्री सुरेश शर्मा के आवास का घेराव किया। सौ से ज्यादा शिक्षक मंत्री के चक्कर मैदान स्थित आवास पर पहुंचे और अपनी मांगों के समर्थन में नारेबाजी की। उसके बाद मंत्री सुरेश शर्मा  ने सभी शिक्षकों को वार्ता के लिए आवास के भीतर बुलाया, जहां हड़ताली शिक्षकों और मंत्री के बीच सभी बिंदुओं पर बात हुई।

Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget