दाभोलकर हत्याकांड : आखिरकार सीबीआई को मिली सफलता

Narendra Dabholkar
मुंबई
महाराष्ट्र अंधश्रध्दा निर्मूलन समिति के संस्थापक डॉ. नरेंद्र दाभोलकर की हत्या के लिए इस्तमाल की गई रिवाल्वर सीबीआई ने अरब समुद्र से ढूंढ निकाली है, जिसके लिए नोर्वे  की पनडुब्बियों की मदद ली गई थी। अब फॉरेंसिक जांच के बाद स्पष्ट हो सकेगा कि रिवाल्वर से ही गोली चलाई गई थी या नहीं। सूत्रों के मुताबिक सीबीआई ने ठाणे की खारेगांव खाड़ी   के पास रिवाल्वर ढूंढ़ने का काम पिछले कई दिनों से जारी रखा था। उसके लिए नोर्वे की पनडूब्बियों और तकनीक की मदद ली गई। इस मुहिम के लिए सीबीआई को कोर्ट ने दो बार  ज्यादा वक्त बढ़ाकर दिया था। काफी मेहनत के बाद सीबीआई को सफलता हाथ लगी है। रिवाल्वर फॉरेंसिक लैब भेजी जाएगी। डॉ. दाभोलकर की जिस गन से हत्या की गई थी,  उसकी गोली का आकार और रिवाल्वर से चलाई जानेवाली गोली के आकार का मिलान किया जाएगा, जिसकी जांच केस में अहम भूमिका निभाएगी। लैब रिपोर्ट आने के बाद ही  स्पष्ट हो पाएगा कि यह रिवाल्वर हत्या के लिए इस्तमाल की गई थी की नहीं। बता दें कि वर्ष अगस्त 2013 में शनिवार पेठ स्थित शिंदे पुल पर मॉर्निंग वॉक के लिए गए डॉ.  दाभोलकर की दुपहिया पर आए दो हमलावरों ने गोली चलाकर हत्या कर दी थी। सीबीआई ने वीरेंद्र तावड़े, संजीव पुनालेकर, विक्रम भावे, शरद कलसकर तथा सचिन अंदुरे पर हत्या का आरोप दर्ज किया है।

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget