यस बैंक में नकदी को लेकर नो टेंशन

आज शाम 6 बजे के बाद ग्राहक निकाल सकेंगे 50 हजार रुपए से अधिक की रकम

मुंबई
यस बैंक के नए सीईओ प्रशांत कुमार ने मंगलवार को कहा कि बैंक का पूरा कामकाज बुधवार की शाम से सामान्य हो जाएगा। उन्होंने यह भी कहा कि बैंक में नकदी को लेकर   वास्तव में कोई चिंता की बात नहीं है। पिछले तीन दिन में यस बैंक में निकासी के मुकाबले जमा ज्यादा आए हैं। उन्होंने कहा कि बैंक के केवल एक तिहाई ग्राहकों ने ही अपने  खातों से 50,000-50,000 रुपए की निकासी की। संकट में फंसे यस बैंक पर लगी रोक बुधवार शाम को समाप्त हो जाएगी। भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) और कुछ अन्य निजी बैंकों ने पुनर्गठन योजना के तहत बैंक में निवेश किया है। एसबीआई के चेयरमैन रजनीश कुमार ने कहा कि स्टेट बैंक के पास यस बैंक के जो भी शेयर हैं, उसमें से तीन साल की  तय बंधक अवधि से पहले एक भी शेयर नहीं बेचा जाएगा। उन्होंने यह भी कहा कि भारतीय स्टेट बैंक दूसरे दौर के पूंजी समर्थन में यस बैंक में अपनी हिस्सेदारी को 42 प्रतिशत से  बढ़ाकर 49 प्रतिशत करेगा। प्रशांत कुमार ने बताया कि यस बैंक की सभी ऑनलाइन सर्विस पूरी तरह से काम कर रही है। बैंक के एटीएम में कैश की कोई कमी नहीं है। प्रेस  कांफ्रेंस में शामिल भारतीय स्टेट बैंक के चेयरमैन रजनीश कुमार ने कहा कि भारतीय स्टेट बैंक अपने शेयर बेचने के लिए पूरी तरह से आजाद है, लेकिन मैं यकीन दिलाना चाहता हूं  कि अगले तीन साल तक यस बैंक का एक भी शेयर नहीं बेचा जाएगा। यस बैंक ने अपने निदेशक मंडल के पुनर्गठन को मंजूरी दे दी। रिजर्व बैंक की ओर से बैंक के प्रशासक  नियुक्त प्रशांत कुमार बैंक के नए प्रबंध निदेशक और मुख्य कार्यकारी अधिकारी हैं। कुमार भारतीय स्टेट बैंक के पूर्व मुख्य वित्त अधिकारी और उप प्रबंध निदेशक रह चुके हैं। नए  निदेशक मंडल में पंजाब नेशनल बैंक के पूर्व गैर-कार्यकारी निदेशक सुनील मेहता भी शामिल हैं। वह यस बैंक के गैर- कार्यकारी चेयरमैन होंगे। उनके अलावा महेश कृष्णामूर्ति और  अतुल भेड़ा बैंक के गैर-कार्यकारी निदेशक हैं। भारतीय स्टेट बैंक के पास यस बैंक के निदेशक मंडल में दो निदेशक नामित करने का अधिकार होगा।
Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget