अयोध्या फैसले के खिलाफ पीएफआई ने एससी में दाखिल की क्यूरेटिव पिटीशन

नई दिल्ली/लखनऊ
 पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया ने अयोध्या विवाद में फैसले के खिलाफ शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट में क्यूरेटिव पिटीशन दाखिल किया। इससे पहले मोहम्मद अयूब की पीस पार्टी ऑफ इंडिया भी बीते 21  जनवरी को इस फैसले के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में क्यूरेटिव पिटीशन दाखिल कर चुकी है। पीएफआई ने इस क्यूरेटिव पिटीशन में सुप्रीम कोर्ट से रामजन्मभूमि-बाबरी मस्जिद विवाद में बीते वर्ष 9  नवंबर को दिए गए अपने फैसले पर दोबारा विचार करने की मांग की है। क्यूरेटिव पिटीशन में पीएफआई ने कहा है कि शीर्ष अदालत अपने 9 नवंबर 2019 के उस आदेश पर रोक लगाए, जिसमें  उसने विवादित जमीन 'रामलला' को देने का फैसला किया था। 
पीएफआई ने सुप्रीम कोर्ट से क्यूरेटिव पिटीशन पर खुली अदालत में बहस की मांग की है। आपको बता दें पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया  और पीस पार्टी ऑफ इंडिया दोनों ही रामजन्मभूमि-बाबरी मस्जिद मुकदमे में पक्षकार नहीं थे। पीस पार्टी ने अपनी क्यूरेटिव पिटीशन में कहा था कि शीर्ष अदालत ने रामजन्मभूमि-बाबरी मस्जिद  विवाद में फैसला आस्था के आधार पर लिया था। गौरतलब है कि तत्कालीन मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली पांच सदस्यीय संविधान पीठ ने सर्वसम्मति से 9 नवंबर 2019 को अयोध्या मामले में अपना ऐतिहासिक फैसला सुनाया था। इस फैसले के खिलाफ 19 पुनर्विचार याचिकाएं भी दायर की गई थीं। सुप्रीम कोर्ट ने बीते 12 दिसंबर को सभी पुनर्विचार याचिकाओं को खारिज कर दिया था।

Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget