चीन की बड़ी साजिश, पीओके में तैनात किए लड़ाकू विमान

Fighter jet
नई दिल्ली
पूर्वी लद्दाख में चीन लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल (एलएसी) पर लगातार नापाक हरकतें कर रहा है और इसमें उसे अपने 'सदाबहार दोस्त' पाकिस्तान का भी पूरा साथ मिल रहा है।  यही वजह है कि भारत को चीन के साथ-साथ पाकिस्तान की हरकतों पर भी नजर रखनी पड़ रही है। सूत्रों के मुताबिक पिछले सप्ताह चीन की एयरफोर्स पीएलएएएफ का एक  रिफ्यूलर एयरक्रा ट पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) के स्कर्दू में उतरा था। इसके बाद से भारत पीओके में स्थित पाकिस्तानी एयरफोर्स के ठिकानों पर बराबर नजर रख  रहा है। स्कर्दू लेह एयरबेस से मात्र 100 किमी दूर है और हाल में पाकिस्तान ने इसका विस्तार किया है। पूर्वी लद्दाख में एलएसी के पार चीन की हवाई गतिविधियों बढ़ गई हैं जिससे  यह आशंका बढ़ रही है कि चीन की एयरफोर्स पीओके के एयरबेसों को इस्तेमाल कर सकती है। भारत और चीन की सेनाओं के बीच पूर्वी लद्दाख में पिछले कई दिनों से तनातनी चल  रही है। चीनी सेना ने मई शुरुआत में पूर्वी लद्दाख में अपनी तैनाती बढ़ानी शुरू की थी और मजबूरन भारत  को भी वहां अतिरिक्त सैनिक भेजने पड़े। इंडियन एयरफोर्स भी अलर्ट पर  है और लद्दाख में उनसे अपनी गतिविधियां बढ़ा दी हैं।
अतिरिक्त सैनिकों और रसद को पहुंचाने के लिए वायुसेना के विमान लगातार उड़ान भर रहे हैं। साथ ही एलएसी पर नजर रखने के लिए सुखोई-30 और मिग-29 विमान भी दिन में कई बार उड़ान भर रहे हैं। चीन ने पूर्वी लद्दाख सीमा पर अपनी हवाई गतिविधि बढ़ाने के साथ ही शिनजियांग के होटान एयरबेस में अतिरिक्त सुखोई-27 विमानों को तैनात किया है।  भारत इस पर करीबी नजर बनाए हुए है और चीन की सेना के किसी भी दुस्साहस का जवाब देने के लिए उसके बराबर ही लड़ाकू विमान तैनात किए जा रहे हैं।

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget