चीन की हर चाल को करेंगे नाकाम भारत के पहाड़वीर

indian soldier
नई दिल्ली
लद्दाख में चीन के धोखे के बाद भारत अब उसे घेरने के में कोई कसर बाकी नहीं छोड़ रहा है। पैंगोग शो झील से लेकर गलवान घाटी तक भारत के वीर चीनी सैनिकों की आखों में आखें डाले हुए हैं। इन सबके बीच भारत ने चीन से लगती 3,488 किलोमीटर लंबी वास्तविक नियंत्रण रेखा पर ऊंचाई वाले इलाकों में लड़ने के लिए प्रशिक्षित जवानों की तैनाती कर दी है। ये जवान ड्रैगन सेना की पश्चिम, मध्य या पूर्वी सेक्टर में किसी भी हिमाकत का करारा जवाब देने के लिए तैयार हैं। शीर्ष आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि भारतीय सेना को चीनी सेना की सीमा उल्लंघन की किसी भी हरकत का करारा जवाब देने का आदेश दिया गया है। समझा जाता है कि भारत के इन विशेषज्ञ जवानों के पिछले दशकों में उत्तरी फ्रंट पर लड़ने के लिए प्रशिक्षित किया गया था। चीनी सेना जहां सड़क के रास्ते सैन्य साजोसामन सीमा पर ला रहे हैं वहीं, भारतीय माउंटेन जवानों का दस्ता ऊंचाई वाले इलाके में गुरिल्ला युद्ध के लिए ट्रेंड होते हैं जैसा कि हम करगिल के युद्ध में देख चुके हैं।
भारत और चीन के बीच 3,488 किलोमीटर लंबी सीमा है। लद्दाख में काराकोरम के पास से लेकर अरुणाचल प्रदेश में अंजाव तक रु्रष्ट फैली हुई है। आज तक इसकी रूपरेखा तय नहीं हो सकी। दोनों तरफ पहाड़ियों पर तैनात अक्सर टकराते रहते हैं। फिलहाल पूर्वी लद्दाख में चीन और भारत के बीच तनाव चल रहा है।

लद्दाख में चीन ने दिया है धोखा
गौरतलब है कि गत सोमवार की रात लद्दाख के गलवान घाटी में भारत और चीन के सैनिकों के बीच खूनी झड़प हो गई थी। इस झड़प में भारत के 20 जवान शहीद हो गए थे जबकि चीन के भी 40 जवान मारे गए थे। बता दें कि लद्दाख में भारत और चीन के बीच एक महीने से ज्यादा वक्त से तनाव चल रहा है।

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget