भूल तो नहीं गईं रस्सी कूदना!

skipping
रस्सी कूदना भले ही अभी तक ओलंपिक में शामिल नहीं हुआ है पर ज्यादातर ओलंपियन्स रस्सी कूदने का अभ्यास करते हैं। यह इतना ज्यादा फायदेमंद है कि आपको भी इसके बारे में जानना चाहिए।

ज्यादातर खिलाड़ी अपने वर्कआउट की शुरूआत रस्सी कूदने से करते हैं। हम सभी को ऐसा लगता है कि जो चीज जितनी मुश्किल हैं, वे उतना ही अच्छा परिणाम देती हैं। सिर्फ  जीवन में ही नहीं, बल्कि वर्कआउट के बारे में भी हमने यही धारणा बना ली है। छरहरी काया के लिए हम अकसर कठिन व्यायाम को चुनते हैं। नतीजतन , हम उन मूल बातों की  अनदेखी कर देते हैं, जो न केवल हमारा वजन कम करने में मददगार हैं, बल्कि हमारी क्षमता को भी बढ़ा सकती हैं। पर आपको यह जानकर खुशी होगी कि आसान से दिखने वाले  व्यायाम भी वजन कम करने में ज्यादा मददगार साबित हो सकते हैं।

बहुत खास है रस्सी कूदना
अमेरिकन जर्नल ऑफ़ स्पोर्ट्स मेडिसीन में प्रकाशित एक अध्ययन के अनुसार पैदल चलना और साइकिल चलाना जैसी सामान्य एक्टिविटीज आपके पूरे वजन को कम करने में  मददगार साबित हो सकती हैं। रस्सी कूदना ऐसी ही एक बेसिक एक्सरसाइज है, जिस पर हम सभी ने अब तक बहुत कम ध्यान दिया है।

हर रोज रस्सी कूदने से मिल सकती है टोन्ड बॉडी

रस्सी कूदना पूरे शरीर का व्यायाम है। जिसे कुछ मिनट करने से ही काफी लाभ होता है। हर रोज नियमित रस्सी कूदने से आप अपनी बॉडी को टोन्ड कर सकती हैं। विश्व  मुक्केबाजी विजेता, मैरी कॉम भी रस्सी कूदने की वकालत करती हैं। काफी समय पहले उन्होंने अपने एक इंटरव्यू में यह खुलासा किया था कि केवल चार घंटे रस्सी कूदने से उन्होंने  अपना दो किलो वजन कम किया था।

स्किपिंग फुल बॉडी वर्कआउट है
स्किपिंग यानी रस्सी कूदने से आपके शरीर की सभी मांसपेशियों पर दबाव पड़ता है। जिससे शरीर के हर हिस्से का फैट बर्न होता है। जब आप रस्सी को घुमाते हैं तो आपके शरीर  के ऊपरी हिस्सों यानी कंधों, बाइसेप्स, ट्राइसेप्स और फोरआर्म्स का भी वर्कआउट होता है। जब आप अपने कोर मसल्स को टाइट रखती हैं तो इसका असर आपके एब्स और उसके  आसपास की मांसपेशियों पर अधिक दबाव बढ़ता है। जिससे आपके पेट का फैट बर्न होता है। और जब आप जंप करती हैं तो आपके पैरों, नितंबों, जांघों और पिंडलियों की मांसपेशियों का भी व्यायाम होता है, जिससे वजन घटाने में काफी मदद मिलती है।

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget