बाढ़ से असम में तबाही का मंजर

लाखों लोग हुए बेघर

Asam Flood
मेघालय
असम में बाढ़ की स्थिति और भी गंभीर हो गई है। अब तक राज्य में 23 जिलों के लगभग 9.3 लाख लोग प्रभावित हुए हैं। बाढ़ की वजह से अब तक जान गंवाने वाले लोगों की संख्या 18 हो गई है। लगातार बाढ़ का पानी आवासीय इलाकों में बढ़ता जा रहा है। यहां पर टीमें राहत कार्य में लगी हैं। लोग अपनी जान बचाकर किसी तरह बाहर निकल रहे हैं।
असम में बाढ़ ने वहां आम लोगों को झकझोर कर रख दिया है। चारों तरफ तबाही के मंजर दिख रहे हैं। राज्य में 23 जिलों के लगभग 9.3 लाख लोग प्रभावित हुए हैं। बाढ़ की वजह से अब तक 18 लोगों की मौत हो चुकी है। लगातार बाढ़ का पानी आवासीय इलाकों में बढ़ता जा रहा है। एएसडीएमए ने कहा कि धेमाजी, लखीमपुर, बिश्वनाथ, उदलगुरी, दर्रांग, नलबारी, बारपेटा, बोंगाईगांव, कोकराझार, धुबरी, दक्षिण सलमारा, गोलपाड़ा, कामरूप, मोरीगांव, होजई, नौगांव, गोलाघाट, जोरहाट, माजुली, शिवसागर, डिरूगढ़, तिनसुकिया और पश्चिम कार्बी आंगलोंग जिलों में बाढ़ के कारण 9.26 लाख से अधिक लोग प्रभावित हुए हैं।
एसडीआरएफ की ओर से रविवार शाम जारी बुलेटिन में कहा गया कि एसडीआरएफ, जिला प्रशासन, नागरिक सुरक्षा और अंतर्देशीय जल परिवहन विभागों ने पांच जिलों में पिछले 24 घंटों के दौरान 9,303 लोगों को निकाला है।
बाढ़ के कारण असम के 16 जिलों बुरी तरह से प्रभावित हुए हैं और यहां रहने वाले लगभग 253,000 से अधिक लोग बेघर हुए हैं। जलप्रलय के कारण मरने वालों की संख्या बढ़ गई है।
27 जून, 2020 को भारत के पूर्वोत्तर राज्य असम में मोरिगोवन जिले के मुरकटा गांव में बाढ़ का पानी भर गया तो ग्रामीणों ने अपनी गृहस्थी का कुछ सामान उठाया और नाव से बाढ़ का पानी पार करके सुरक्षित स्थान की तलाश पर निकल पड़े।

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget