हल्दी, अदरक, फिटकरी की मदद से फल और सब्जियां होंगी कीटाणु मुक्त

खतरनाक कोरोना वायरस ने कहर क्या बरपाया, लोग बाहर से कुछ भी सामान घर में लाने से डरने लगे हैं। आलम यह है कि सब्जी व फल भी डिटर्जेंट पाउडर से धोकर खाना शुरू  कर दिया है। इससे वायरस या बैक्टीरिया तो मर जाते हैं लेकिन डिटर्जेंट के केमिकल इसके माध्यम से शरीर में प्रवेश कर रहे हैं, जो खतरनाक है। हालांकि अब घबराने की जरूरत  नहीं हैं क्योंकि इसका समाधान आयुर्वेदिक सैनिटाइजर करेगा। कानपुर के डीजी कॉलेज की प्रोफेसर डॉ. अर्चना दीक्षित ने इसे तैयार किया है। अहम बात है कि यह न तो खतरनाक है  और न ही इसे खरीदने के लिए मेडिकल स्टोर जाकर अधिक पैसे खर्च करने होंगे। इसे घर में मौजूद आयुर्वेदिक वस्तुओं से बनाया गया है। दावा है कि यह सब्जी और फल को पूरी  तरह कीटाणुमुक्त कर देगा।
डॉ. अर्चना के मुताबिक कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए बाहर से आने वाली हर चीज को कीटाणुमुक्त कर ही घर में रखना और उपयोग करना उचित है। अनजाने में लोग खुद ही  बीमारी को दावत दे रहे हैं। कैसे करें उपयोग: अर्चना दीक्षित के मुताबिक हमारे किचन में रखे सामान हल्दी, अदरक, वेनिगर, फिटकरी, बेकिंग सोडा व नमक में अनेक तरह के  आयुर्वेदिक गुण होते हैं। इनका प्रयोग कर किसी भी चीज को कीटाणुमुक्त किया जा सकता है। इन्हीं चीजों को मिलाकर ही सेनेटाइजर बनाया है। सब्जी व फल पर इसका छिडकाव  कर 30 मिनट के लिए रख दें। इसके बाद सामान्य रूप से उपयोग कर सकते हैं।

इस तरह बरतें सावधानी
- अमेरिका के फूड एंड एडमिस्ट्रेशन (एफडीए) के अनुसार सब्जियों- फल अच्छे से साफ करने से पहले अपने हाथ कम से कम 20 सेकंड तक धोएं।
- बाजार से खरीदे जाने वाले फलों और सब्जियों को घर पर नल की टोटी के सामने रखकर तेजी के साथ निकलते पानी में धोएं. इसके बाद हाथ से उसे रगड़ें।
- ठीक से सब्जियां और फल धोने के बाद काटने से पहले चाकू भी ठीक से साफ कर लें, इससे गंदगी और बैक्टीरिया चाकू से स्थानांतरित नहीं होते हैं और खाने का सामान सुरक्षित  रहता है। फलों को खराब होने से बचाया जा सकेगा
इलाहाबाद विश्वविद्यालय के भौतिकी विभाग के प्रो. केएन उत्तम व शोध छात्रा श्वेता शर्मा, अभिसारिका भारती, रेनू सिंह एवं राहुल उत्तम ने मिलकर फलों की जांच हेतु एक सरल,  सस्ती एवं दुष्प्रभावरहित प्रौद्योगिकी विकसित की है। आप्टिकल सेंसर युक्त इस तकनीक का उपयोग कर इन्होंने जामुन के बारे में महत्वपूर्ण तथ्य निकाले। इस तकनीक से बड़ी  संख्या में जहां फलों को खराब होने से बचाया जा सकेगा, वहीं उनकी गुणवत्ता भी परखी जा सकेगी।

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget