ब्रिटेन जापान के साथ तैयार करेगा 5जी नेटवर्क

नई दिल्ली
ब्रिटेन की सरकार ने 5क्ष वायरलेस नेटवर्क डिवेलप करने के लिए जापान से मदद मांगी है। इससे पहले ब्रिटेन में हुवावे 5क्ष नेटवर्क डिवेलप कर रही थी। ब्रिटेन ने कुछ समय पहले ही चीन की हुवावे पर बैन लगाया है। इससे पहले अमेरिका भी हुवावे पर बैन ला चुका है। अमेरिका और चीन के बीच बीते काफी समय से टेक्नॉलजी और सिक्यॉरिटी को लेकर तनाव की स्थिति बनी है। इस सिलसिले में ब्रिटेन के अधिकारियों ने जापाने के ऑफिशल्स से मुलाकात की। दोनों दलों के बीच टोकियो में बैठक हुई।
इससे पहले ब्रिटेन ने चीन के हुवावे से दूरी बनाते हुए साल 2027 तक अपने 5क्ष नेटवर्क से हुवावे के उपकरण हटाने की घोषणा पहले ही कर चुकी है। ब्रिटेन ने कुछ समय पहले यूरोपियन यूनियन से बाहर निकलने का फैसला लिया है।

अमेरिका में भी हुवावे बैन
चीन की हुवावे पर अमेरिका भी बैन लगा चुका है। अमेरिका और चीन के बीच बीते काफी समय से तनाव की स्थिति बनी हुई है। हुवावे पर बैन के बाद कंपनी किसी भी गूगल सर्विस का इस्तेमाल नहीं कर सकती है। इससे पहले भारत भी चीन के 59 ऐप्स पर बैन लगा चुका है। इसमें बेहद पॉप्युलर टिकटॉक ऐप भी शामिल था। टिकटॉक के अलावा इसमें यूसी ब्राउजर, हेलो, वीगो, शेयर इट जैसे कई ऐप शामिल थे जिन्हें भारत में काफी पसंद किया जाता है। 5जी यूजर्स को 4क्ष नेटवर्क से 20 गुना ज्यादा स्पीड मिलेगी। इस स्पीड का अंदाजा आप इस बात से लगा सकते हैं एक पूरी एचडी फिल्म सिर्फ 1 सेकंड में डाउनलोड की जा सकेगी। 5क्ष यूजर्स को भीड़ में भी अपने मोबाइल प्रोवाइडर से कनेक्ट होने में 3क्ष और 4क्ष नेटवर्क्स के मुकाबले कोई दिक्कत नहीं होगी। एक पॉइंट से दूसरे पॉइंट तक डेटा का एक पैकेट पहुंचने में जितना समय लगता है उसे लेटेंसी कहते हैं।

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget