मुख्तार अंसारी गिरोह की 60 लाख की मछलियां बरामद

मऊ
थाना दक्षिणटोला पुलिस ने बीती देर रात मुख्तार अंसारी गिरोह के तीन ट्रकों पर आंध्र प्रदेश से लाई गई 60 लाख की मछलियां बरामद किया। फर्जी गोदाम का लाइसेंस बनवाकर बड़े पैमाने पर अवैध कारोबार का संचालन किया जा रहा था।
रात में जब पुलिस भ्रमण पर निकली तो तीन ट्रकों पर से छोटे वाहनों पर मछलियों को लादा जा रहा था। पुलिस की पूछताछ में मामले सामने आया। पुलिस ने मुख्तार अंसारी गिरोह के मछली माफिया श्यामलाल सोनकर उर्फ लिल्लू निवासी बलिया मोड़ कृष्ण बिहार कालोनी थाना सरायलखंसी के तीन कारोबारियों को गिरफ्तार किया।
इनामिया गैंगस्टर मछली माफिया पारस सोनकर के भाई श्यामलाल सोनकर उर्फ लिल्लू बिना वैध लाइसेंस के आंध्र प्रदेश से कम पैसे में मछलियों को मंगाकर अवैध रुप से पूर्वांचल व बिहार में ऊंचे दामों पर बेचता है। यह गिरोह गुंडई व धनबल से जनपद के छोटे व्यवसाइयों को डरा धमकाकर पूरे जनपद में मछली का रेट अपने हिसाब से निर्धारित करत है। इसमें मछली माफिया को प्रति ट्रक डेढ़ से दो लाख रुपये का मुनाफा होता हैं। इसके मछली गोदाम का लाइसेंस बीते 15 अप्रैल को प्रशासन द्वारा निरस्त किया जा चुका है। मछली माफिया द्वारा लाइसेंस बहाली का फर्जी कागजात बनाकर अनुचित लाभ प्राप्त करने की लिए मछलियों का आयात-निर्यात किया जा रहा था। कोरोना महामारी के दृष्टिगत लागू शनिवार व रविवार लॉकडाउन के दौरान भी मरी हुई मछलियों को बेचने का गिरोह काम कर रहा था। पकड़े गए अभियुक्तों ने बताया कि श्यामलाल उर्फ लिल्लू का व्यवसाय वे सभी मिलकर देखते हैं। इसमें कैशियर का काम विजय सोनकर निवासी कप्तानगंज आजमगढ़ व प्रमोद कुमार हरिजन निवासी विशनपुर सरसेना थाना चिरैयाकोट देखते हैं। मछली माफिया को पकडऩे के लिए पुलिस की टीमें सक्रिय हो गई है। साथ ही पकड़े गए अभियुक्तों पर पुलिस ने सुसंगत धाराओं सहित महामारी अधिनियम व खाद्य सुरक्षा व मानक अधिनियम का अभियोग पंजीकृत कर चालान कर दिया है।
Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget