ओवर चार्जिंग करने वाले अस्पतालों पर चला डंडा

मुंबई
मुंबई महानगरपालिका ने शहर के निजी अस्पतालों से कहा है कि रोगियों को एक करोड़ 47 लाख रुपए वापस लौटाए। मनपा ने निजी अस्पतालों के बिलों के ऑडिट में पाया कि मरीजों से एक करोड़ 47 लाख रुपए की अधिक रकम वसूली गई थी।
कोरोना महामारी के बीच निजी अस्पतालों में मरीजों से अनाप-शनाप पैसे वसूलने की शिकायत मिलने के बाद राज्य सरकार के निर्देश पर मनपा प्रशासन ने निजी अस्पतालों के बिलों का ऑडिट कराने का निर्णय लिया है। मनपा प्रशासन की ओर से दी गई जानकारी के मुताबिक 37 निजी अस्पतालों पर कार्रवाई करते हुए 1115 मरीजों से वसूले गए 1 करोड़ 47 लाख रुपया लौटाने का काम किया गया।
अनाप-शनाप बिलों वसूलने की शिकायतों के बाद मनपा ने बिलों के ऑडिट का निर्णय लिया था। अब आगे से सभी मरीजों के बिल ऑडिट समिति की मंजूरी के बाद लेने के निर्देश दिए गए हैं। उल्लेखनीय है कि कोरोना महामारी फैलने के बाद राज्य सरकार ने राज्य के सभी निजी अस्पतालों के 80 प्रतिशत बेड कोरोना मरीजों के लिए आरक्षित करने के निर्देश दिए थे। निजी अस्पतालों में कोरोना मरीजों से अनाप शनाप पैसे वसूलने के आरोप लगे थे। राज्य सरकार के निर्देश पर मनपा ने निजी अस्पतालों में बेड की दर से लेकर इलाज के लिए अन्य सामग्री के उपयोग के रेट फिक्स किए थे। मनपा प्रशासन ने निजी अस्पतालों पर निगरानी रखने के लिए लेखा परीक्षकों की टीम बनाकर निजी अस्पतालों में मरीजों को दिए गए बिल का ऑडिट किया गया। मनपा लेखा परीक्षकों की टीम ने मुंबई के 37 निजी अस्पतालों के बिल की जांच की। मनपा के पास ओवर चार्जिंग को लेकर 625 लोगों ने शिकायत की थी। मनपा द्वारा निजी अस्पतालों में लेखा परीक्षक की नियुक्ति कर दिए जाने के बाद अनाप शनाप बिल वसूलने के मामलों की शिकायत अब कम हो गई है। इस तरह की जानकारी मनपा आधिकरियों ने दी। उन्होंने मरीजों के परिजनों का आव्हान किया है कि वे अधिक बिल वसूलने पर तत्काल शिकायत करें।
इसके पहले ठाणे मनपा ने (टीएमसी) ने शहर के निजी अस्पतालों से कहा था है कि वे रोगियों को 27 लाख रुपए वापस किए जाएं जो कोरोना वायरस के दौरान उनसे अधिक बिल के तौर पर वसूला गया है। नगर निगम के ऑडिट में पाया गया कि निजी अस्पतालों ने रोगियों से 27 लाख रुपए अधिक वसूले हैं। टीएमसी के एक अधिकारी ने बताया कि 1752 बिलों के प्रारंभिक ऑडिट में 196 आपत्ति वाले मामलों में यह रकम सामने आई है। इसके अलावा और बिलों का ऑडिट हो सकता है।
Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget