एक वार्ड-एक गणपति की अवधारणा

मुंबई
मुंबई महानगरपालिका ने कोविड-19 वैश्विक महामारी के मद्देनजर इस साल अंधेरी, जुहू और वर्सोवा जैसे प्रमुख इलाकों के गणेश मंडलों से गणेश उत्सव के दौरान एक वार्ड-एक गणपति की अवधारणा का पालन करने की अपील की है। के-पश्चिम वार्ड के सहायक निगम आयुक्त, विश्वास मोटे ने पिछले हफ्ते गणपति मंडलों को लिखे एक पत्र में यह अपील की। इसी वार्ड के तहत अंधेरी-पश्चिम, जुहू, वर्सोवा और अन्य इलाकों आते हैं। 10 दिनों का उत्सव गणेश चतुर्थी के साथ शुरू होगा जो इस बार 22 अगस्त को है। मुंबई कोरोना वायरस से बुरी तरह प्रभावित स्थानों में से एक हैं, जहां संक्रमण के एक लाख से ज्यादा मामले हैं और बीमारी के चलते 5,500 से ज्यादा मौत हुई हैं। बृहन्मुंबई महानगरपालिका (बीएमसी) के डेटा के मुताबिक करीब 150 बड़े गणपति मंडल के-पश्चिम नगर वार्ड में स्थित हैं, जहां से कोविड-19 के अब तक 5,813 मामले सामने आए हैं और 258 लोगों की मौत हुई है। कोरोना वायरस के मामलों के लिहाज से यह शहर के 24 नगर वार्ड में चौथे नंबर पर है। मोते ने अपने पत्र में कहा कि उन्होंने के-पश्चिम वार्ड के सभी नगरसेवकों से एक वार्ड-एक गणपति अवधारणा लागू करने की अपील की है। उन्होंने कहा कि गणपति प्रतिमाओं की ऊंचाई चार फुट से अधिक नहीं होगी और मूर्ति विसर्जन के लिए वार्ड में पर्याप्त संख्या में कृत्रिम तलाब बनाए जाएंगे। कृत्रिम तालाबों में सभी तरह की सुविधा उपलब्ध कराने का आश्वासन देते हुए उन्होंने सभी लोगों से इन्हीं तालाबों में मूर्ति विसर्जन करने की अपील की है।
Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget