ठाणे के एक अस्पताल का लाइसेंस निलंबित

ठाणे
ठाणे महानगरपालिका आयुक्त विपिन शर्मा ने मरीजों से कथित तौर पर ज्यादा बिल वसूलने पर घोड़बंदर रोड स्थित होराईजन प्राइम अस्पताल का लाइसेंस एक माह के लिए निलंबित कर दिया। इस अस्पताल में नए मरीजों की भर्ती पर रोक लगा दी गई है। कोरोना काल में अस्पतालों की ओवरचार्जिंग मामले में इसे बड़ी कार्रवाई माना जा रहा है।
होराईजन प्राइम अस्पताल की तरफ से 12 जुलाई तक 796 मरीजों का उपचार किए जाने की जानकारी मिली थी। मनपा के ऑडिटरों द्वारा 57 बिलों की छानबीन की गई, इसमें 56 बिलों में साढ़े छह लाख 9 हजार की आपत्तिजनक वसूली करने का खुलासा हुआ था। इस पर 20 जुलाई को अस्पताल को नोटिस जारी कर लिखित जवाब मांगा गया था, लेकिन अस्पताल प्रबंधन ने तय समय तक कोई जवाब नहीं दिया। इसके बाद अस्पताल को कोरोना मरीजों की सेवा में असमर्थ तथा मरीजों से गैर वाजिब बिल की वसूली का दोषी करार दिया गया। आयुक्त डॉ विपिन शर्मा ने अस्पताल के कोविड दर्जे को हटा दिया और उसकारजिस्ट्रेशन एक माह के लिए रद्द कर दिया। अस्पताल के लिए दो सदस्यीय समिति में नियुक्त की गई है, जो अंतिम मरीज के डिस्चार्ज होने तक निगरानी रखेंगे।
Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget