केंद्रीय टीम ने बफर जोन व पटना के हालात का लिया जायजा

पटना
बढ़ते संक्रमण के बीच स्वास्थ्य मंत्रालय की टीम ने पटना के हालात का जायजा लिया। राजीव नगर बफर जोन के अलावा पाटलिपुत्र स्पोर्ट्स कॉप्लेक्स और एनएमसीएच कोरोना अस्पताल का निरीक्षण किया।
केंद्रीय टीम रविवार दोपहर को राजीव नगर पहुंची। राजीव नगर में सख्ती रही। सड़क पर घूमने वाले को फटकार मिली। लोग घरों में ही रहे। टीम के पदाधिकारी राजीव नगर के उन इलाकों में गए, जहां मरीज मिले हैं। अधिकारियों ने दूर से ही लोगों से बातचीत की तथा व्यवस्थाओं के बारे में उनसे जानकारी ली। अधिकारियों की टीम ने पांच घरों का मुआयना किया। वहां रह रहे लोगों की दिनचर्या से संबंधित जानकारी ली। रास्ते से गुजर रहे लोगों से टीम के लव अग्रवाल ने समस्याएं पूछीं। इस पर लोगों का कहना था कि वे चाहते हैं कि कोरोनावायरस की जांच हो, लेकिन नहीं हो पा रहा है। हालांकि मौके पर उपस्थित डीएम कुमार रवि ने टीम को जानकारी दी कि पटना में हाल ही में 25 अस्पतालों में कोरोना वायरस संक्रमण की जांच की व्यवस्था की गई है। केंद्रीय टीम ने कंटेनमेंट जोन में डोर टू डोर सर्वे तथा अधिक से अधिक लोगों की जांच करने की सलाह दी। इसके बाद प्रशासन की तरफ से रणनीति तय की जा रही है कि इन दो बिंदुओं पर विशेष अभियान चलाया जाए।
प्रशासन द्वारा केंद्रीय टीम को बताया गया कि राजीव नगर के रोड नंबर 1 से 22 तक बफर जोन घोषित किया गया है। इस इलाके में केवल अनिवार्य सेवाएं ही बहाल रखी गई हैं तथा अन्य गतिविधियों पर रोक लगा दी गई है। टीम को राजीव नगर और कंकड़बाग में से किसी एक क्षेत्र में जाना था। अधिकारियों की टीम जैसे ही राजीव नगर पहुंची, आसपास के लोग सक्रिय हो गए। हालांकि राजीव नगर में कुछ सामाजिक संगठनों के लोग केंद्रीय टीम से मिलना चाहते थे, लेकिन पुलिस वालों ने उन्हें दूर ही रोक दिया।
बाद में अधिकारियों की टीम पाटलिपुत्र स्पोर्ट्स कांप्लेक्स गई, जहां जिला प्रशासन द्वारा कोविड-19 सेंटर बनाया गया है। निरीक्षण के दौरान अधिकारियों को डीएम द्वारा व्यवस्था की जानकारी दी जा रही थी। बताया गया कि इसी कोविड-19 सेंटर के रूप में बनाया गया है।
Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget